Film Review : सोनम कपूर ने ‘नीरजा’ में दिया अब तक का Best Performance

0

फिल्म का नाम: नीरजा

डायरेक्टर: राम माधवानी

स्टार कास्ट: सोनम कपूर, शबाना आजमी, शेखर रवजियानी ,योगेन्द्र टिक्कू

रेटिंग: 4 स्टार

नीरजा

नीरजा का फिल्म रिव्यू

नीरजा भनोट पर बनी फिल्म ‘नीरजा’ आज सिल्वर स्क्रिन पर रिलीज़ हो चुकी है। फिल्म के ट्रेलर, गाने और डायलॉग्स पहले ही सभी का दिल जीत चुके हैं। तभी से सभी को इस फिल्म का बेसब्री से इंतजार था। डायरेक्टर राम माधवानी ने ‘नीरजा भनोट’ की जिंदगी और उनके साहसिक कारनामे को दिखाने का प्रयास किया है। आइये जानते हैं वो इसमे सफल हुए या नहीं।

कहानी

असली घटनाओं पर आधारित यह कहानी है मुंबई के नवजीवन सोसाइटी में रहने वाली नीरजा भनोट (सोनम कपूर) की, जो अपनी मां (शबाना आजमी), पिता (योगेन्द्र टिक्कू) और दो भाइयों के साथ के साथ रहती हैं। वह एक मॉडल होने के साथ-साथ एक एयर होस्टेस भी हैं। उसकी जिंदगी में परिवार के साथ-साथ लवर जयदीप (शेखर रवजियानी) भी हैं। बात 5 सितम्बर 1986 की है जब नीरजा की ड्यूटी मुंबई से न्यूयॉर्क जाने वाली फ्लाइट Pan Am Flight 73 में होती हैं। जब यह फ्लाइट कराची में लैंड करती है, तो इसे आतंकवादी हाईजैक कर लेते हैं, फिर फ्लाइट के भीतर लगभग 16 घंटे तक जद्दोजेहद के बाद नीरजा बुद्धि और पराक्रम से फ्लाइट में मौजूद यात्रियों में से बहुत सारे लोगों को बचाती है और आखिरी सांस तक लड़ती हैं।

डायरेक्शन

राम माधवानी ने फिल्म के लिए कड़ी मेहनत की है, जो साफ दिखाई देती है। फिल्म शुरू से आखिरी तक बांधे रखने में सफल होती है। उन्होंने नीरजा की प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ को पर्दे पर बखूबी दिखाया है। हां, एक कमी यह जरूर है कि आतंकियों की भाषा समझ नहीं आती और राम माधवानी ने इसके लिए इंग्लिश सबटाइटल्स यूज किए हैं। ऐसे में जिन्हें इंग्लिश नहीं आती, उन्हें कहानी समझने में दिक्कत आ सकती है। माधवानी ने अपनी कहानी के जरिए दर्शकों को बांधे रखा है। हालांकि, इंटरवल के बाद वे थोड़े कमजोर लगे।

एक्टिंग

फिल्म में सोनम कपूर मुख्य किरदार निभा रही हैं। जबकि शबाना अजमी, शेखर और योगेन्द्र ठाकुर भी अहम किरदारों में दिखेंगे। एक्टिंग की बात करें तो सोनम इस फिल्म से आपको चौंका देंगी। जी हां, इसे सोनम के करियर की सबसे बेस्ट परर्फोमेंस कहा जा सकता है। वहीं, शबाना अजमी, योगेन्द्र ठाकुर अपने किरदार में अच्छे रहे। जबकि शेखर के डेब्यू के हिसाब से देखा जाए तो अब आप उनके गानों के साथ साथ उनकी एक्टिंग के भी फैन होने वाले हैं।

म्यूजिक

फिल्म का म्यूजिक बेहतरीन है और बैकग्राउंड स्कोर भी काफी अच्छा है। फिल्म की रफ्तार के साथ इसका म्यूजिक बिल्कुल मेल खाता है। विशाल खुराना ने प्रसून जोशी के साथ मिलकर ‘जीते हैं चल’ और ‘गहरा इश्क’ जैसे गाने बनाये हैं जो फिल्म को और भी सजाते हैं।

देखें या नहीं

ये फिल्म अच्छी स्क्रिप्ट, एक्टिंग और डायरेक्शन का परफेक्ट कॉम्बिनेशन है। ये फिल्म सभी को जरूर देखनी चाहिए।

 

 

loading...
शेयर करें