नेपाल पहुंचते ही जानकी मंदिर में पीएम मोदी ने की पूजा- अर्चना, जनकपुर-अयोध्या बस सर्विस को दिखाई हरी झंडी

काठमांडू| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय यात्रा पर शुक्रवार को नेपाल पहुंच गए। नेपाल के जनकपुर पहुंचने पर नेपाल के रक्षा मंत्री ईश्वर पोखरेल, प्रांत-2 के मुख्यमंत्री लाल बाबू राउत और सरकार के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने पीएम मोदी का स्वागत किया। मोदी का नेपाल का यह तीसरा दौरा है।

मोदी के हेलीकॉप्टर की लैंडिग के लिए जनकपुर हवआईअड्डे पर तीन हेलीपैड का निर्माण कराया गया था। मोदी की एक झलक देखने के लिए नेपाल और भारत से हजारों की संख्या में लोग जनकपुर में इकट्ठा हो गए, जहां वह लोगों को संबोधित करेंगे।

नेपाल पहुंचते ही प्रधानमंत्री सीधे जानकी मंदिर रवाना हुए, यहां पहुंचते ही उन्होंने 20वीं सदी में बने जानकी धाम मंदिर में पूजा-अर्चना की। इस दौरान वहां मौजूद पुरोहितों ने मोदी को मंदिर परिसर और वहां की संस्कृति के बारे में पूरी जानकारी दी। पूजा-अर्चना के बाद मोदी ने नेपाल प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली के साथ मिलकर जनकपुर-अयोध्या बस सर्विस को हरी झंडी दिखाई। प्रधानमंत्री मोदी का जनकपुर सब-मेट्रोपॉलिटन सिटी के बरबीघा मैदान में स्वागत किया जाएगा। पीएम के जनकपुर पहुंचते ही मोदी-मोदी के नारे लगने शुरू हो गए।

मंदिर में दर्शन के बाद प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे गर्व है कि यहां आकर माता सीता की पूजा करने का सौभाग्य मिला। मैं भारत का पहला प्रधानमंत्री हूं जिसने जनकपुर में आकर पूजा की। मैं नेपाल के प्रधानमंत्री का शुक्रिया करना चाहता हूं।

पीएम मोदी का यह दौरा कई मायनोें में खास है। भारतीय प्रधानमंत्री का दौरा पिछले महीने ओली के भारत दौरे के बाद हो रहा है। ओली फरवरी में पद संभालने के बाद अपनी पहली विदेश यात्रा पर भारत आए थे। रवाना होने से पहले उन्होंने गुरुवार (10 मई) को कहा कि भारत, नेपाल के साथ दोस्ताना संबंधों को उच्च प्राथमिकता देता है।

Related Articles