नेपाल पहुंचते ही राम जानकी मंदिर में विशेष पूजा करेंगे पीएम मोदी, ये है पूरा कार्यक्रम

काठमांडू| भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को दो दिवसीय दौरे पर नेपाल आ रहे हैं। मोदी की यह तीसरी नेपाल यात्रा है। जनकपुर, काठमांडू और मुक्तिनाथ में भारत के प्रधानमंत्री के आगमन की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। वह इन तीनों जगहों पर जाएंगे।

नरेंद्र मोदी

मोदी अपने दौरे की शुरुआत जनकपुर से करेंगे जहां वह राम जानकी मंदिर में विशेष पूजा करेंगे। मोदी यह ‘खोडासोपचर’ अनुष्ठान करने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री होंगे।

मंदिर के पुजारी राम तपेश्वर दास वैष्णव ने बताया कि इनसे पहले भारत के पूर्व राष्ट्रपति नीलम संजीव रेड्डी, ज्ञानी जैल सिंह और प्रणव मुखर्जी ने खोडासोपचर विधि से राम जानकी मंदिर में पूजन किया है।

इसके बाद नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली और मोदी संयुक्त रूप से देवी सीता के जन्म स्थान जनकपुर से भगवान राम के जन्म स्थान अयोध्या को जोड़ने वाले रामायण सर्किट बस मार्ग का उद्घाटन करेंगे।

इसके बाद मोदी बाहराबिगहा के रंगभूमि मैदान में उनके सम्मान में आयोजित भोज में भाग लेंगे तथा वे वहां उनके स्वागत के लिए आने वाले लोगों को संबोधित भी कर सकते हैं। विभिन्न राजनीतिक दलों के जिला प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। प्रांतीय सरकार ने उनके दौरे के दिन आधिकारिक अवकाश घोषित किया है।

मोदी इसके बाद ओली, राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी, उपराष्ट्रपति नंद बहादुर पुन और प्रमुख राजनीतिक दलों के प्रमुख नेताओं से मुलाकात करने के लिए काठमांडू के लिए उड़ान भरेंगे। भारतीय प्रधानमंत्री इसके बाद वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए पूर्वी नेपाल के संखुवासभा जिले में स्थित अरुण तृतीय पनबिजली संयंत्र का शिलान्यास करेंगे। यह संयंत्र भारत के सतलज जल विद्युत निगम के अंतर्गत आता है।

900 मेगावाट की परियोजना के अगले पांच साल में पूरा होने की उम्मीद है। इस परियोजना पर भारत ने 1.5 अरब डॉलर का निवेश किया है। मोदी और ओली संवाददाता सम्मेलन को संयुक्त रूप से संबोधित करेंगे। इसके बाद ओली अपने भारतीय समकक्ष के लिए रात्रिभोज का आयोजन करेंगे।

मोदी 12 मई को थोरांग ला पहाड़ियों की तराई में स्थित मस्तांग जिले में मुक्तिनाथ मंदिर में पूजा अर्चना करेंगे तथा इसके जीर्णोद्धार तथा विकास के लिए घोषणाएं करेंगे। अन्नपूर्णा ट्रैकिंग मार्ग सुरक्षा कारणों से तीन दिनों के लिए सैलानियों और ट्रैकिंग करने वालों के लिए बंद रहेगा।

काठमांडू महानगर निगम के महापौर बिद्या सुंदर शाक्य भारत के प्रधानमंत्री के सम्मान में एक समारोह आयोजित करेंगे। मोदी पशुपतिनाथ मंदिर में भी पूजा करेंगे। देश में तीन दिनों तक सुरक्षा बंदोबस्त मजबूत रहेंगे। मोदी की यात्रा के दौरान दोनों देशों के लगभग 11,000 सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे।

Related Articles