नोटबंदी और जीडीपी को लेकर बोले चिदंबरम- जो अनुमान लगाया वो सही निकला

चेन्नई: मनी लॉड्रिंग जैसे गंभीर आरोपों की टीस झेल रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने जीडीपी को लेकर एक बार फिर केंद्र की सत्तारूढ़ मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। चिदंबरम ने पीएम मोदी के कार्य प्रणाली को आरोपों में घेरे में लेते हुए कहा है कि नोटबंदी के बाद जीडीपी को लेकर उन्होंने जो आरोप जताए थे, अब वह सब सही साबित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि कि नोटबंदी की वजह से जिस तरह की परेशानियों का सामना जैसी विपत्ति किसी भी देश पर नहीं पड़नी चाहिये।

चिदंबरम ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि नोटबंदी और जीडीपी की वजह से जो संकट भारत को देखना पड़ा है, वह इस 21वीं सदी में भारतीय अर्थव्यवस्था के लिये काफी नुकसानदेह है।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी की घोषणा के एक दिन बाद ही उन्होंने संसद में कहा था कि इससे आर्थिक वृद्धि दर में डेढ़ फीसदी की गिरावट आएगी। उन्होंने कहा कि जहां 2015-16 में आर्थिक वृद्धि दर 8।2 फीसदी थी , वहीं 2017-18 में यह 6।7 फीसदी पर आ गई।

इससे पहले चिदंबरम ने कहा मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि भारतीय अर्थव्यवस्था ऐसी कार की तरह हो गई है, जिसकी तीन टायरें पंक्चर हैं। उन्होंने पेट्रोल-डीजल सहित अन्य चीजों की बढ़ती कीमतों पर भी मोदी सरकार को आड़े हाथ लिया था।

Related Articles