नोटबंदी पर पीएम मोदी ने बुलाई कैबिनेट की विशेष बैठक

0

नई दिल्‍ली। नोटबंदी के मामले पर संसद में गतिरोध जारी है। विपक्षी सदस्यों के हंगामे के कारण गुरुवार को भी संसद की कार्यवाही बाधित हुई। राज्यसभा में शीतकालीन सत्र के सातवें दिन नोटबंदी को लेकर चर्चा हुई। पिछले दिनों विपक्ष के भारी हंगामे के बीच सदन में जारी गतिरोध गुरुवार को नोटबंदी पर बहस की शुरुआत के साथ खत्म हुआ। मायावती ने लंच ब्रेक के बाद सदन में कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सदन में नहीं आएंगे तो हम संसद नहीं चलने देंगे। जिसके बाद राज्यसभा को 3 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। इस बीच पीएम मोदी ने गुरुवार रात 8 बजे नोटबंदी पर कैबिनेट की विशेष बैठक बुलाई है।

नया वित्त वर्ष

नोटबंदी पर कैबिनेट की विशेष बैठक में होगा फैसला

इस बीच, सूत्रों के अनुसार सरकार ने तय किया है कि वह विपक्ष की मांग नही मानेगी। सूत्रों के अनुसार सरकार में ये राय बनी है कि 28 नवंबर के आक्रोश दिवस से पहले विपक्ष गतिरोध खत्म करने को तैयार नहीं दिख रहा। इसके मद्देनजर शुक्रवार को पीएम मोदी राज्यसभा में बहस के दौरान दखल नहीं देंगे। विपक्ष पीएम की मौजूदगी में बहस की मांग कर रहा है साथ ही पीएम से नोटबंदी पर बयान देने की भी मांग कर रहा है। नोटबंदी पर कैबिनेट की विशेष बैठक में यह फैसला किया जाएगा कि राहत को कब तक लागू किया जाए। 

ममता बनर्जी का सरकार पर हमला

उधर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री मोदी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ‘आप स्विस बैंक से तो काला धन वापस नहीं ला पाए। लेकिन खून पसीने की कमाई रखने वालों को परेशान कर दिया.’ उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना हिटलर से करते हुए कहा कि ‘आपने तो हिटलर से भी ज्यादा तबाही मचा दी।

जेटली ने कहा- केवल शोर मचा रहा है विपक्ष

राज्यसभा के बाहर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मीडिया से बातचीत की। उन्होंने कहा कि विपक्ष की बहस को लेकर कोई तैयारी नहीं थी। वह केवल ये चाहते थे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बहस में शामिल हों। साथ ही जेटली ने ये भी कहा कि विपक्ष केवल शोर मचा रहा है उनके पास कहने के लिए कुछ भी नहीं है। बीएसपी सुप्रीमो मायावती की चुनाव करवाने की मांग पर अरुण जेटली ने कहा है कि जब उत्तर प्रदेश में चुनाव होगा तब उन्हें अपनी पार्टी की दशा पता लग जाएगी।

नोटबंदी के फैसले पर सरकार के साथ मायावती

लंच से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यसभा में बहस के दौरान मौजूद रहे। बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने पीएम से इस मुद्दे पर बोलने की मांग की। उन्होंने ये भी कहा कि वह नोटबंदी के फैसले के समर्थन में तो हैं लेकिन इसे लागू करने के तरीके को गलत बताया। जिसके बाद राज्यसभा को लंच ब्रेक के लिए 2 बजे तक स्थगित कर दिया गया।

loading...
शेयर करें