नोटबंदी के मुद्दे पर विपक्ष का हल्लाबोल, लोकसभा की कार्यवाही स्थगित

0

नई दिल्ली। संसद सत्र के दूसरे दिन निचले सदन लोकसभा में गुरुवार को नोटबंदी पर भारी हंगामा हुआ, जिसके कारण सदन की कार्यवाही बाधित हुई। विपक्ष ने इस मुद्दे पर संसदीय प्रावधान के तहत बहस की मांग की, जिसे सरकार ने स्वीकार नहीं किया। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से एक स्थगन प्रस्ताव के लिए नोटिस स्वीकार करने को कहा।

नोटबंदी

नोटबंदी पर बहस के बाद सुमित्रा महाजन ने कार्यवाही शुरू कर दी

स्थगन प्रस्ताव के तहत सभी कार्यो को स्थगित कर बहस होती है और फिर वोट पड़ते हैं। लेकिन संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि नियम 193 के तहत बहस थोड़ी देर की चर्चा के रूप में ही होनी चाहिए। इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन में विपक्ष के हंगामे व नारेबाजी के बीच प्रश्नकाल की कार्यवाही शुरू कर दी। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि ऐसा लगता है कि विपक्ष चर्चा नहीं चाहता।

खड़गे ने कहा, “हम स्थगन प्रस्ताव चाहते हैं, क्योंकि इसके तहत वोटिंग होगी।” लोकसभा अध्यक्ष ने हालांकि यह कहते हुए कि सदन की कार्यवाही दोपहर 12.30 बजे तक के लिए स्थगित कर दी कि इस व्यवधान के बीच बहस नहीं हो सकती। दोबारा सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद भी यही स्थिति बनी रही।

अनंत कुमार ने कहा, “जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले के साथ है। हम चाहते हैं कि विपक्ष मुद्दे पर चर्चा करे। मुझे लगता है कि काले धन पर लगाम लगाने, भ्रष्टाचार और जाली मुद्रा की रोकथाम पर दो राय नहीं है।” तृणमूल कांग्रेस नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने कहा कि विपक्ष एकजुट है और मतदान के जरिए सरकार की ‘निंदा’ करना चाहता है। सरकार और विपक्ष के बीच कोई सहमति नहीं बन पाने को देखते हुए लोकसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी।

loading...
शेयर करें