नोटिस के बाद प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पे लगाया आरोप, पूछा यह सवाल

कोरोना वायरस से हुई मौतों पर प्रदेश में सोशल मीडिया पर संग्राम छिड़ा है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार को एक अखबार में कोरोना से आगरा में हुईं मौतों को लेकर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा और आगरा के मॉडल होने पर तंज कसा।

उन्होंने लिखा 48 घंटे में 28 मौतें हो गई। इसके लिए उन्होंने शासन और प्रशासन को घेरा। प्रियंका के ट्वीट के बाद राजनीतिक गलियारे में खलबली मच गई।
प्रियंका का ट्वीट- 48 घंटों में 28 कोरोना मरीजों की मौत, आगरा के डीएम बोले- गलत हैं आंकड़े, 24 घंटे में खंडन करिए

आगरा के जिलाधिकारी पीएन सिंह ने प्रियंका गांधी वाड्रा को पत्र लिखकर उनके 22 जून के ट्वीट का 24 घंटे में खंडन करने को कहा है। डीएम ने पत्र में कहा है, पिछले 109 दिन में आगरा में काविड-19 के 1,139 केस आए हैं, 79 मरीज़ों की मौत हुई है। पिछले 48 घंटे में 28 लोगों की मृत्यु की सूचना असत्य एवं निराधार है।
मुख्यमंत्री से पूछा यह सवाल
मंगलवार सुबह अचानक फिर से राजनीति बदली और प्रियंका ने जिलाधिकारी आगरा को कोई जवाब न देते हुए एक और ट्वीट कर दिया। जिसमें उन्होंने एक और अखबार का हवाला देते हुए लिखा कि आगरा में कोरोना से मृत्युदर दिल्ली व मुंबई से भी अधिक है।

यहां कोरोना से मरीजों की मृत्यदर 6.8 प्रतिशत है। यहां कोरोना से जान गंवाने वाले 79 मरीजों में से कुल 35 प्रतिशत यानि 28 लोगों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घंटे के अंदर हुई है।

‘आगरा मॉडल’ का झूठ फैलाकर इन विषम परिस्थितियों में धकेलने के जिम्मेदार कौन हैं? मुख्यमंत्रीजी 48 घंटे के भीतर जनता को इसका स्पष्टीकरण दें और कोविड मरीजों की स्थिति और संख्या में की जा रही हेराफेरी पर जवाबदेही बनाएं।’

Related Articles