गंदे और लिखे नोट पर आरबीआई का बड़ा बयान, पढ़ें

0

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद देश में हलचल सी मच गई थी। सभी लोग परेशान हो गए थे। नोटबंदी के बाद कुछ लोगों ने यह अफवाह फैलाई कि नोट पर कुछ लिखा होगा या गंदा होगा तो वह बैंक नहीं लेगा। लेकिन आरबीआई के नए आदेश के बाद टेंशन लेने की जरूरत नहीं हैं।

नोट पर कुछ लिखा होगा या गंदा होगा

नोट पर कुछ लिखा होगा या गंदा होगा वाले आदेश को किया दरकिनार

आरबीआई ने अपने नए आदेश में कहा है कि सभी बैंक ऐसे सभी नोटों को लेने से इंकार नहीं कर सकते जिनपर कुछ लिखा होगा या वह गंदा होगा। बैंक सभी प्रकार के नोटों को स्‍वीकार्य करने के लिए बाध्‍य होंगे।

नोट पर कुछ लिखा होगा या गंदा होगा पर आरबीआई का बयान

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अपने आदेश में साफ कर दिया है कि गंदे या ‘बेकार नोट’ के सिलसिले में बैंकों को आरबीआई की ‘क्लीन नोट पॉलिसी’ के तहत काम करना चाहिए। गंदे, लिखे हुए नोटों को ‘बेकार नोट’ माना जाना चाहिए और इसका मतलब चलन से बाहर हो चुके नोट नहीं है। यानी ऐसे नोट को ‘गंदे नोट्स’ के रूप में माना जाए और ‘आरबीआई क्लीन नोट पॉलिसी’ के मुताबिक निपटाने का एक आदेश सभी बैंकों को जारी कि‍या है। आरबीआई ने साफ कहा है कि जो भी बैंक खराब नोट बदलने में आनाकानी करेंगे, उनपर पेनाल्टी लगाई जाएगी।

लगातार आ रही थीं शिकायतें

रिजर्व बैंक के पास लगातार ऐसी शिकायतें आ रही थीं कि बैंक 500 और 2000 रुपए के लिखे, फेड या गंदे नोट लेने से इंकार कर रहे हैं और बैंक कैशियर की इसके लिए आरबीआई के आदेश का हवाला देते रहे हैं जबकि आरबीआई ने ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया था।

loading...
शेयर करें