न्यूज़ीलैंड : क्राइस्टचर्च मस्जिद हमलावर को बिना परोल हुई उम्रकैद की सजा

न्यूजीलैंड : कल रात न्यूजीलैंड की अदालत ने बड़ा फ़ैसला लिया है. क्राइस्टचर्च मस्जिद में हमला करने वाले आतंकी को सुनाई बिना बेल के आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. न्यूज़ीलैण्ड द्वारा लिया गया एक आनोखा फैसला हैं. इस हादसे में 50 से  ज्यादा लोगों की मौत हुई थी .फैसला सुनाते वक्त जज ने कहा ये हमला एक आमानवीय कर्म है.

हमले में हुई थी 50 से ज्यादा लोगों की मौत 

बताया जाता है कि , इस जानलेवा हमले में दर्जनों लोग बुरी तरह जख्मी भी हो गए थे.ऑस्ट्रेलियाई हमलावर ब्रेंटन टैरेंट ने सजा पर किसी तरह का विरोध नहीं किया. पिछले साल मार्च महीने में 29 वर्षीय ब्रेंटन टैरेंट (Brenton Tarrant) नामक शख्स ने न्यूजीलैंड स्थित मस्जिद पर हमला किया और इसे फेसबुक लाइव कर दिखाया था .यह न्यूजीलैंड में अब तक का सबसे बड़ा नरसंहार है .

जस्टिस कैमरन मंडेर ने दिया बयान

जज ने फैसला सुनाते हुए कहा कि आप घृणा से प्रेरित इंसान हैं, जो उन लोगों से घृणा करता है, जिन्हें वह खुद से अलग समझता है. आपने अपने द्वारा किए गए नरसंहार की कोई माफी नहीं मांगी, जबकि मैं सराहना करता हूं कि आपने इन कार्यवाहियों को एक मंच के रूप में उपयोग करने का अवसर छोड़ दिया है, तो आप न तो इसके विपरीत हैं और न ही शर्मिंदा हैं.

जस्टिस कैमरन मंडेर ने ये भी कहा कि आपने सामूहिक हत्या की हैं जिसमे कई बेगुनाहों को जान गवानी पड़ी हैं. उनका नुकसान असहनीय है. आपके कार्यों ने कई परिवारों को तबाह कर दिया है. जस्टिस मंडेर के बयान के बाद सार्वजनिक गैलरी में मौजूद कुछ पीड़ित भावुक हो उठे .

Related Articles