पंजाब सरकार ने पदक विजेताओं को दिया 15000 रुपये पेंशन देने का प्रस्ताव

चंडीगढ़। पूर्व निशानेबाज व पंजाब के नवनियुक्त खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने ओलम्पिक और विश्वकप जैसे टूर्नामेंट में पदक जीतने वाले राज्य के खिलाड़ियों को 15000 रुपये पेंशन देने का प्रस्ताव रखा है। सोढी ने राज्य के नए खेल मंत्री के तौर पर शुक्रवार को कार्यभार संभालने और विभाग के अधिकारियों के साथ विचार विमर्श के बाद आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में इसकी घोषणा की।

punjab

उन्होंने कहा कि ओलम्पिक और विश्वकप के अलावा एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को भी 2500 रुपये के बजाय 5000 रुपये पेंशन देने का प्रस्ताव पेश किया है। ओलम्पिक और विश्वकप में पदक जीतने वाले विजेताओं को अभी 5000 रुपये पेंशन के रूप में दिए जाते हैं।

नव निुयक्त खेल मंत्री ने बताया राज्य में खेलों का बुनियादी ढांचा विकसित करने के लिए 32.90 करोड़ रुपये की लागत से 10 नए स्टेडियम का निर्माण किया जाएगा और दो शूटिंग रेंज की कायाकल्प भी की जाएगी।

पूर्व निशानेबाज ने कहा कि छह करोड़ की लागत से मुक्तसर साहिब और मोहाली में शूटिंग रेंज का नवीनीकरण, एक करोड़ की लागत से गिद्दड़बाहा में मल्टीपर्पज स्टेडियम, 6.25 करोड़ की लागत से गुरू हरसहाय, टांडा उड़मुड़, गिद्दड़बाहा और खडूर साहिब में ब्लाक स्तरीय स्टेडियम और तीन करोड़ रुपये की लागत के साथ ढुढीके (मोगा) में हाकी एस्टोटर्फ स्टेडियम बनाए जाएंगे।

सोढी के अनुसार, खेलो इंडिया स्कीम के अंतर्गत 2.18 करोड़ रुपये की लागत से तरनतारन में मल्टीपर्पज इंडोर हाल स्टेडियम, 7.47 करोड़ की लागत से वार हीरोज स्टेडियम संगरूर में मल्टीपर्पज इंडोर स्टेडियम और सात करोड़ की लागत से होशियारपुर में एथलेटिक्सि ट्रैक समेत मल्टीपर्पज स्टेडियम और खेल कंपलैक्स में स्वीमिंग पूल का निर्माण किया जाएगा।

खेल मंत्री ने कहा कि कई वर्षों से रुके महाराजा रणजीत सिंह पुरस्कारों को दोबारा शुरु करने के साथ साथ इसकी पुरस्कार राशि जो कि इस समय दो लाख रुपये है, इसमें भी बढ़ोतरी की जाएगी। साथ ही पदक विजेता खिलाड़ियों को नौकरी देने की भी स्थायी व्यवस्था की जाएगी।

Related Articles