पठानकोट हमला: पाकिस्तान दबाव में बनाएगा JIT

नई दिल्ली/इस्लामाबाद। पठानकोट हमले को लेकर अभी भी घमासान मचा हुआ है। पाकिस्तान ने भारत से पठानकोट हमले पर और सबूत मांगे हैं। वहीं भारत को भी पाकिस्तान द्वारा कार्रवाई करने पर शक है। पाकिस्तान पर चौतरफा पड़ रहे दबाव ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। अमेरिका ने पठानकोट हमले पर पाकिस्तान पर दबाव बनाया और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री तुरंत एक्टिव हो गए।

 

Nawaz Sharif, the leader of Pakistan Muslim League - Nawaz (PML-N) points as he speaks to foreign reporters at his residence in Lahore May 13, 2013. Sharif, who is poised for victory after Pakistan's May 11 election, said he had spoken at length with Prime Minister Manmohan Singh of rival India and would work to ease mistrust. REUTERS/Damir Sagolj (PAKISTAN - Tags: PROFILE ELECTIONS POLITICS) - RTXZKOW

पठानकोट हमले की जांच को टीम बनाने का दिया आदेश

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री ने पठानकोट हमले की जांच के लिए संयुक्त टीम बनाने को कहा है। इस टीम में पाकिस्तान आईबी, आईएसआई, मिलिट्री इंटेलीजेंस और पुलिस अफसर शामिल होंगे। इस बीच, कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है।

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान एक्‍शन ले तो भारत जरूर करेगा बात : डाेवल…

मामले की तह तक जाना चाहते हैं शरीफ

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पिछले हफ्ते ही एक मीटिंग ली थी जिसमें एक जांच टीम को बनाने की बात कही गई थी। इस मीटिंग में शरीफ  अलावा गृह मंत्री चौधरी निसार अली खान, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नसीर जंजुआ, विदेश मामलों पर पीएम के सलाहकार सरताज अजीज और वित्त मंत्री इशाक डार भी शामिल हुए थे। पाकिस्तान के एक अखबार ने कहा है कि शरीफ पठानकोट हमले की तह तक जाना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें: धमकी : कश्‍मीर से सेना हटाओ वरना दिल्‍ली-यूपी पर हमला करेंगे…

यह भी पढ़ें: अमेरिका ने फिर बजाई नवाज शरीफ की घंटी

सेना प्रमुख से भी की है बात

पाकिस्तानी पीएमओ सूत्र ने कहा है कि शरीफ ने इसे लेकर अपने सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ से भी बात की है। यह जांच शरीफ के लिए अग्नि परीक्षा की तरह हो गई है, ताकि दोनों मुल्कों के बीच बातचीत का सिलसिला कायम रखा जा सके और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लाहौर दौरे से रिश्तों में आई ताजगी बनी रह सके।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button