पतंजलि केश कांति के बाल काले करने का सबूत नहीं दे पाए बाबा रामदेव

0

पतंजलि केश कांतिनई दिल्ली। बाबा रामदेव के पतंजलि केश कांति के विज्ञापन को भ्रामक करार दिया गया है। भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (एएससीआई)  का कहना है कि कंपनी विज्ञापन में किए गए दावों के समर्थन में कोई भी सबूत पेश नहीं कर पाई है।

पतंजलि केश कांति

हरिद्वार स्थित पतंजलि आयुर्वेद ने केश कांति के विज्ञापन में इसे ‘दोमुंहे व बाल झड़ने’ का उपचार करने करने वाला तेल बताया है। परिषद का कहना है कि कंपनी इसको प्रमाणित करने के लिए कोई ‘क्लिनिक्ल साक्ष्य’ पेश नहीं कर पाई।

परिषद ने हेल्थकेयर श्रेणी में भ्रामक विज्ञापनों की 19 शिकायतों, दूरसंचार क्षेत्र में पांच तथा पर्सनल केयर में चार शिकायतों को सही पाया है। भारती एयरटेल के 4G सेवाओं को प्रोत्साहित करने संबंधी विज्ञापनों के खिलाफ तीन शिकायतों जबकि आइडिया सेल्यूलर के खिलाफ एक शिकायत सही पाई गई।

इसके साथ ही परिषद ने भारती एयरटेल, आइडिया सेल्यूलर, फ्लिपकार्ट, मिंत्रा, बजाज आटो, निसान मोटर तथा इंडिगो एयरलाइंस सहित विभिन्न कंपनियों के 37 विज्ञापन अभियानों के खिलाफ शिकायतों को भी सही पाया है। उक्त कंपनियों के विज्ञापन भी भ्रामक बताते हुए शिकायत की गई थी।

यहां यहां है पतंजलि की पैठ

पतंजलि पीठ के सभी उत्पाद दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और चण्डीगढ़ में उपलब्ध हैं। इन राज्‍यों के साथ साथ ये उत्पाद बिहार, झारखण्ड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, असम, पश्चिम बंगाल, उत्तराखण्ड, छत्तीसगढ़, राजस्थान और गुजरात में भी उपलब्ध हैं।

इससे पहले आटा नूडल्‍स और गाय के घी पर घिर चुके हैं रामदेव

पतंजलि केश काला से पहले पतंजलि आटा नूडल्‍स में कीड़े पाए जाने की खबरों ने भी काफी हवा पकड़ी थी। हालांकि रामदेव की कंपनी ने इन दावों को झूठा करार दिया था। वहीं दिसंबर में ही पतंजलि के ही प्रॉडक्‍ट गाय के घी की जांच की गई। खबरों के मुताबिक हरिद्वार में कुछ लोगों ने घी के डिब्बे में फंगस की शिकायत की थी। इसी दौरान खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने पतंजलि घी के सैंपल लिए गए थे। इसके बाद बाबा रामदेव के सहयोगी बालकृष्‍ण ने कहा था कि यह पतंजलि के प्रॉडक्‍ट्स को बदनाम करने की साजिश के तहत हो रहा है योगगुरु रामदेव के पतंजलि ब्रांड के गाय के घी की जांच की जाएंगी। जानकारी के अनुसार हरिद्वार में कुछ लोगों ने घी के डिब्बे में फंगस की शिकायत की थी। इसी दौरान खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने पतंजलि घी के सैंपल लिए है। सैंपल जांच के लिए रुद्रपुर स्थित लैब को भेजे गए हैं। जांच रिपोर्ट 15 दिन के भीतर आने की उम्मीद है।

loading...
शेयर करें