पति-पत्नी के रिश्तों में बरसेगा प्यार, बस इस दिशा में न रखें बेडरुम का द्वार

नई दिल्ली। तेजी से बदलते समय में पति-पत्नी के रिश्तों में भी बदलाव हुआ है। आमतौर पर ऐसा देखा गया है कि कुछ दिनों के प्यार के बाद कपल में तकरार शुरु हो जाती है। छोटी-छोटी लड़ाइयां तो किसी भी रिश्ते के लिए ज्यादा खतरनाक नहीं होती हैं, मगर जब बात हद से गुजर जाए तो रिश्ता टूटने तक की नौबत आ जाती है। हर पत्नी की चाहत होती है कि उसका पति उसे टूटकर प्यार करे। आपकी यह ख्वाहिश हमारे द्वारा बताए गए एक आसान से उपाय से पूरी हो सकती है। वास्तुशास्त्र के अनुसार आपका बेडरुम किस दिशा में है, यह आपके रिश्तों में प्रभाव डालता है।

जानिए किस दिशा में न बनाएं बेडरुम
आग्नेय कोण, यानी कि दक्षिण-पूर्व दिशा के कोने में कभी भी पति-पत्नी का शयनकक्ष नहीं होना चाहिए। इस दिशा में शयनकक्ष होने से कपल में आपस में झगड़े होने की संभावना बढ़ जाती है। ऐसा होने पर दंपति के स्वभाव में क्रोध की अधिकता बढ़ती जाती है। अपने गुस्से पर काबू पाना मुश्किल होता जाता है।

इसके अलावा इस दिशा में शयनकक्ष होने से कपल में बीमारियां होने की संभावना भी बढ़ जाती है। इन बीमारियों में उच्च रक्तचाप, यानी कि हाई बी.पी, डायबिटीज मुख्य रुप से शामिल हैं।

आग्नेय कोण के अलावा आप अन्य किसी दिशा में शयनकक्ष का चुनाव कर सकते हैं। इससे आपके संबंधों में मधुरता की कोई कमी नहीं आने पाएगी।

Related Articles