‘सुप्रीम’ आदेश के तहत साफ किया जाएगा देश का सबसे अमीर मंदिर

0

तिरुवनंतपुरम। देश के सबसे अमीर मंदिर केरल के श्री पद्मनाभ स्वामी मंदिर की साफ सफाई और मरम्मत को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया है कि जल्द से जल्द मंदिर के गर्भ गृह की छत, मूर्ति और दो टैंकों के जीर्णोंद्धार की प्रक्रिया तुरंत शुरू कर दी जाए। प्रधान न्यायाधीश जेएस खेहर की अध्यक्षता वाली पीठ ने केरल जल प्राधिकरण को मंदिर परिसर से निर्माण मलबा, नाली, सीवर साफ करने पर आने वाले 28 लाख रूपये के खर्च का वहन करने का निर्देश दिया।

पद्मनाभ स्वामी मंदिर

पद्मनाभ स्वामी मंदिर मामले की अगली सुनवाई 17 अप्रैल को

खबरों के मुताबिक, देश में सबसे अमीर इस मंदिर की घोषित संपत्ति एक लाख करोड़ रुपए है। पीठ ने कहा कि इस मुद्दे के महत्व को देखते हुए केरल जल प्राधिकरण यह सुनिश्चित करने के लिए खुद से काम शुरू करे कि परियोजना 15 मई 2017 तक मानसून आने से पहले पूरी हो जाए। इसके साथ ही किए गये काम के बारे में न्याय मित्र को हर पखवाड़े में रिपोर्ट सौंपी जाए।

इस पीठ में न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति संजय किशन कौल भी शामिल थे। पीठ ने उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति को नोटिस जारी करके जीर्णोद्धार कार्य में विशेषज्ञों से मंदिर के गर्भ गृह की छत, मूर्ति और दो टैंकों की मरम्मत के काम के लिए रूचि आमंत्रित करने का निर्देश दिया। अदालत ने इस मामले में आगे की सुनवाई के लिए 17 अप्रैल की तारीख तय की।

loading...
शेयर करें