पहले पिलाई शराब फिर सुनसान में ले जाकर कर दिया आग के हवाले…

0

गाज़ियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में पुलिस ने एक फल व्यापारी की हत्या के ऐसे मामले का खुलासा किया है जिसमें आरोपियों ने फल व्यापारी की मौत की साजिश तो गाजियाबाद में रची लेकिन इसे अंजाम बागपत में देने की कोशिश की। हालांकि वे अपने इस प्लान में पूरी तरह से कामयाब नहीं पाए लेकिन फल व्यापारी को अस्पताल जरूर पहुंचा दिया जहां वो मौत से लड़ाई लड़ रहा है। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और उन्हें जेल भेज दिया है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने घटना को नजाम देने के लिए पांच लाख रुपये की सुपारी ली थी।

पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि दिल्ली के करावल नगर इलाके के रहने वाले फल व्यापारी चंकी की गाजियाबाद के लोनी इलाके में दुकान है। उसकी दुकान के पास ही ऑटोमोबाइल शॉप पर काम करने वाले इलियास और वसीम ने फिरौती वसूलने के लिए एक साजिश रची। इस साजिश के तहत उन्होंने पहले चंकी को शराब की पार्टी दी और उसके बाद नशे में धुत चंकी को ऑटो में बैठाकर अपने साथ बागपत लेकर चले गए।

यह भी पढ़ें: नए राष्ट्रपति का पहला भाषण कांग्रेस को नहीं आया पसंद, बताया दिल को चुभने वाला

इसके बाद इन दोनों आरोपियों ने मौत के घाट उतारने के इरादे से एक सुनसान जगह पर चंकी को आग के हवाले कर दिया। हालांकि इस आग ने चंकी का साथ दिया और आग समय रहते ही बुझ गई। चंकी को दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस मामले की तफ्तीश करते हुए आरोपियों तक जा पहुंची और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस के अनुसार, इलियास और वसीम ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया है कि पूरी प्लानिंग 5 लाख रुपये की फिरौती के लिए की गई थी। प्लान यह था कि वह चंकी को मार देंगे और उसके परिवार से पांच लाख रुपये की मांग करेंगे।

यह भी पढ़ें: अब सभी स्कूलों, सरकारी दफ्तरों और प्राइवेट कंपनियों में हफ्ते में एक बार जरूर बजेगा वन्देमातरम

चंकी के परिजनों से कहा जाएगा कि चंकी उनके कब्जे में है। सर्विलांस टीम की मदद से पुलिस ने इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया है। अदालत ने उन्हें जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान : सीएम आवास के पास जबरदस्त बम धमाके से दहला लाहौर, 28 लोगों की मौत

loading...
शेयर करें