कुमाऊं के पहाड़ों पर लौटी बहार

पिथौरागढ़। भले ही पूरा उत्तर भारत इन दिनों घने कोहरे की चपेट में है, लेकिन कुमाऊं के पहाड़ों का मौसम हर किसी को अपनी ओर बरबस ही आकर्षित कर रहा है। गुनगुनी धूप, बर्फ से पटी सफेद चोटियां और दिल को मोह लेने वाले प्रकृति के अद्भुत नजारे देखते ही बन रहे हैं। सर्दियों के इस मौसम में चार चांद लगा रहा है, दमकता लाल सुर्ख बुरांश। जिसकी लालिमा ने पूरे पहाड़ को अपने आगोश में ले रखा है। इसे कुदरत का वरदान ही कहेंगे कि गर्मी हो या सर्दी पहाड़ों का मौसम हमेशा ही खुशनुमा नजर आता है।

 
ये भी पढ़ें – शिमला का मौसम : पहाड़ पर दमकती सूरज की किरणें देंगी सुकून के पल

पहाड़ों का मौसम

पहाड़ों का मौसम सभी को कर रहा आकर्षित

इन दिनों उत्तर भारत के कई इलाके धूंध की चपेट में है, वहीं पहाड़ों में खिली धूप हर किसी को अपनी ओर खींच रही है। ऊंची चोटियों में हुई हल्की बर्फबारी के बाद तो नजारे और भी हसीन हो गये हैं। बर्फ की चादर से लिपटी चोटियां कुछ ऐसा एहसास दिला रही हैं, जैसे पूरा पहाड़ संगमरमर से बेहद करीने से तराशा गया हो।

पौ फटने से लेकर दिन ढलने तक धूप से खिला नीला आसमान किसी को भी हैरत में डाल सकता है। प्रकृति प्रेमी डॉ. अजय शुक्ल का कहना है कि पहाड़ों का मौसम प्रकृति के बेहद करीब है। और इसीलिये सालभर यहां का मौसम लोगों को प्रकृति के करीब रखता है।

पहाडों का मौसम

सौंदर्य से लबरेज पहाड़ों का मौसम जहां प्रकृति प्रेमियों को लुभा रहा है, वहीं पर्यटकों को भी जैसे मुंहमांगी मुराद मिल गयी है। देशी-विदेशी पर्यटक कुमाऊं के पहाड़ों में जहां कहीं भी जा रहे हैं उन्हें प्रकृति के ऐसे ही अद्भुत, आकर्षक और मनमोहक नजारे देखने को मिल रहे हैं  जिसकी कल्पना उन्होनें शायद ही कभी की हो।

ये भी पढ़ें – गाल गुलाबी, चाल गुलाबी… मौसम भी है गुलाबी

गुजरात और बंगाल से आये कई पर्यटकों का कहना है कि उन्होंने कल्पना भी नहीं की थी कि सर्दियों में पहाड़ों का मौसम इस कदर खुशनुमा हो सकता है। पर्यटकों ने ये तक कहा कि यहां आकर उन्हें ऐसा लग रहा है कि विश्व में अगर कहीं स्वर्ग है तो यहीं है।

पहाड़ों में आधुनिक के साथ ही मूलभूत सुविधाएं अभी भी काफी कम हैं लेकिन प्रकृति ने चारों तरफ ऐसा खजाना फैला रखा है जिसके सामने अन्य बातें बहुत बौनी साबित हो जाती हैं। लोगों को इस सोच से ऊपर उठते हुए बदलना होगा कि हिल स्टेशन केवल गर्मियों में उनको राहत दे सकते हैं। चिलचिलाती गर्मी हो या हाड़ कंपाने वाली सर्दी दोनों ही समय में पहाड़ों का मौसम सभी को लुभाता भी है और बहुत कुछ बताता भी है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button