जिस भारतीय मछुआरे को पाकिस्तान ने बनाया कैदी उसी ने बचाई उनके 2 जवानों की जान

0

अहमदाबाद। पाकिस्तानी नौसैना की नाव रविवार को अरब सागर में गुजरात के तट के पास तूफान में फंस गई, जिसके बाद भारतीय मछुआरे ने अपनी जान जोखिम में डालकर उस पर सवार पाकिस्तान के सैनिकों की जान बचाई। पाकिस्तान ने इसी भारतीय मछुआरे को कैदी बनाया था। दरअसल, गलती से पाकिस्तान की समुद्री सीमा में प्रवेश करने के कारण इस मछुआरे को पाकिस्तानी सैनिक कराची लेकर जा रहे थे।

पाकिस्तानी नौसैना

पाकिस्तानी नौसैना के 3 जवानों की डूबने से मौत

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तानी नौसेना की नाव रविवार को भारतीय समुद्री सीमा में प्रवेश कर गई और भारत की एक नाव से टकरा गई। उस वक्त मछुआरे ने सूझबूझ और साहस का परिचय देकर दो पाकिस्तानी नौसैनिकों की जान बचाई। इस दौरान पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षा एजेंसी (पीएमएसए) के तीन और नौसैनिक इस दुर्घटना में समुद्र में डूब गए। तीनों की बॉडी पाकिस्तान को सौंप दी गई है। भारत की इस उदारता के बाद पीएमएसए ने भारत की जब्त की गई 7 नावों और 60 मछुआरों को भी सोमवार की देर रात रिहा कर दिया।

राष्ट्रीय मछुआरे फोरम के सेक्रेटरी मनीष लोढ़ारी ने कहा, ‘सोमवार की देर रात मछुआरों की रिहाई हुई है। भारतीय मछुआरे ने पाकिस्तानी सैनिकों की जान बचाई जिसके बाद यह रिहाई हुई।’ खबरों के मुताबिक, भारत के 10 नाव और कुछ मछुआरे गहरे समुद्री हिस्से के पास थे। जिस वक्त पीएमएसए वहां राउंड के लिए पहुंची उन्हें पकड़कर कराची ले जाने लगी। उसी समय एक पाकिस्तानी नाव भारतीय नाव से टकरा गई। भारतीय नाव उस वक्त भारत की समुद्री पानी सीमा क्षेत्र में ही थी। पाकिस्तानी अधिकारियों ने जब्त की हुई बोट और मछुआरे को छोड़ दिया। उस वक्त दूसरे और मछुआरों को पाकिस्तानी सैनिक अपने साथ लेकर चले गए।

वहीं, राष्ट्रीय मछुआरे फोरम के सेक्रेटरी मनीष लोढ़ारी ने बताया, ‘हमारे मछुआरे ने पाकिस्तानियों की जान बचाई थी इससे प्रभावित होकर पीएमएसए ने 60 मछुआरों को सोमवार देर रात रिहा किया।’

loading...
शेयर करें