पाकिस्तान इस समय भुगतान संतुलन के संकट से गुजर रहा

आईएमएफ ने एक बयान में कहा, ”आईएमएफ के कार्यकारी निदेशक मंडल ने पाकिस्तान के लिए विस्तारित कोष सुविधा (ईएफएफ) के तहत 39 महीने की विस्तारित व्यवस्था को मंजूरी दे दी। उसे 426.8 करोड़ का विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) दिया गया है जो उसके कोटा का करीब 210 प्रतिशत या छह अरब डॉलर के मूल्य के बराबर है। यह राशि उसे आर्थिक सुधार कार्यक्रम के समर्थन के लिए दी गयी है।”

इस छह अरब डॉलर के ऋण में तत्काल दी जाने वाली एक अरब डॉलर की वित्तीय मदद शामिल है जो पाकिस्तान को उसके भुगतान संकट से निपटने में सहायता करेगी। बयान के अनुसार बाकी की राशि को कार्यक्रम की योजना के अनुसार समय-समय पर दिया जाएगा। यह चार त्रैमासिक और चार छमाही समीक्षाओं के आधार पर जारी की जाएगी।

बयान में कहा गया है कि ईएफएफ से पाकिस्तान को आर्थिक अनिश्चिता को कम करने में मदद मिलेगी। यह सतत और संतुलित वृद्धि को पैदा करेगा जो सरकारी कर्ज को घटाने और राजकोषीय घाटे के निर्णायक एकीकरण पर ध्यान केंद्रित करने वाली होगी। साथ ही यह सामाजिक व्यय का भी विस्तार करेगी। बयान में कहा गया है कि यह पाकिस्तान में लचीली, बाजार उन्मुखी विनिमय दर में मदद करेगा जिससे प्रतिस्पर्धा को पुन: स्थापित करने और सरकारी आरिक्षत मुद्रा भंडार को फिर से बनाने में भी मदद करेगा।

Related Articles