पाकिस्तान की रक्षा करते हुए शहीद हुआ एक हिन्दू सैनिक, जानिए पूरी कहानी…

लाहौर। इस वक़्त भारत और पाकिस्तान के बीच हालात बेहद ख़राब हैं। LOC पर जंग का माहौल है। भारत और पाक सैनिकों के बीच टकराव लगातार जारी है। दोनों तरफ से गोलियां चल रही हैं और सैनिक शहीद हो रहे हैं। इस बार भी एक सैनिक शहीद हुआ है, लेकिन इस बार उसकी शाहदत पर फक्र दोनों देशों को है। पाकिस्तान के इस सैनिक की कहानी आज हर किसी जुबां पर है। भारत हो या पाकिस्तान सभी इसकी कुर्बानी को सल्यूट कर रहे हैं।

पाकिस्तान

पाकिस्तानी सैनिक लांस नायक लाल चंद राबड़ी की कहानी इन दिनों सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रही हैं। यह कहानी इस लिहाज से भी चर्चा में हैं क्योंकि वह एक एक हिन्दू थे। लाल चंद ने कभी अपने कर्तव्य के दौरान धर्म को आड़े नहीं आने दिया। पूरी निष्ठा और इमानदारी के साथ पाकिस्तानी सरहद की रक्षा करते हुए वह शहीद हो गए। लाल चंद POK की पहाड़ियों में मंगला फ्रंट के पास तैनात थे।

जानकारी के अनुसार लाल चंद राबड़ी पाकिस्तान के सिंध प्रांत के रहने वाले थे। उनके पिता गड़रिया और मां किसान हैं। लाल चंद अपनी मां-पिता की पांचवीं संतान थे। 2009 में 10वीं की परीक्षा पास करने के बाद लाल चंद बिना बताए फौज के लिए होने वाले दौड़ में शामिल होने चले गए थे। दे

देश के प्रति जज्बा रखने वाले इस लड़के का सेना में सलेक्शन भी हो गया और उन्हें बादिन में पोस्टिंग दी गई। यहां उन्होंने नौकरी के साथ ग्रेजुएशन भी किया। घर वाले और पड़ोसी बताते हैं कि लाल चंद में बचपन से ही राष्ट्रभक्ति कूट-कूटकर भरी थी। वे स्कूल में पढ़ाई के दौरान भी देश, समाज की बातें करते रहते थे।

लाल चंद हमेश अपने भाइयों और दोस्तों को सेना में जाने के लिए प्रेरित करते रहते थे। वह जब अपने गांव जाते हमेशा दूसरों को सेना में जाने की प्रेरणा देते।  वे उन्हें सेना की परीक्षा और फिजिकल टेस्ट पास करने के टिप्स भी बताते। जब उनके शहीद की खबर गांव वालों को पता चली तो सब सन्न रह गए।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button