मेरी पत्नी भारतीय उच्चायोग से लापता : पाकिस्तानी

0

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के एक व्यक्ति का कहना है कि वह अपनी नवविवाहिता भारतीय पत्नी के साथ यहां भारतीय उच्चायोग गया था और वहां उसकी पत्नी लापता हो गई। ताहिर अली ने पुलिस को बताया कि वह भारतीय वीजा के लिए आवेदन भरने अपनी पत्नी उज्मा के साथ भारतीय उच्चायोग गए थे।

पाकिस्तान

पाकिस्तान के नागरिक ने कहा- मोबाइल देने से भी कर दिया इंकार

उज्मा और ताहिर अली की मुलाकात मलेशिया में हुई थी और दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो गया था। इसके बाद उज्मा एक मई को वाघा-अटारी सीमा से पाकिस्तान पहुंची और दोनों ने तीन मई को निकाह कर लिया।

न्यूज इंटरनेशनल ने अली के हवाले से कहा कि दोनों उच्चायोग गए और अपने फॉर्म और फोन अधिकारियों को सौंप दिए। डॉन के अनुसार, उज्मा ने इसके पहले नई दिल्ली स्थित अपने भाई को फोन किया था और अपनी शादी के बारे में बताया था। उसके भाई ने कथित तौर पर उसे हनीमून के लिए भारत आने को कहा और उसे बताया कि भारतीय उच्चायोग में वह अदनान नामक एक व्यक्ति से मिले, जो यात्रा के लिए वीजा का बंदोबस्त करा देंगे।

रपट के मुताबिक, अधिकारियों द्वारा बुलाए जाने के बाद उज्मा इमारत के अंदर गई, जबकि उसका पति बाहर ही रह गया। जब अली की पत्नी कई घंटों बाद भी वापस नहीं लौटी तो उसने भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों से पूछा, जिन्होंने कहा कि उज्मा वहां नहीं है।

अली ने आरोप लगाया कि अधिकारियों ने उनके तीन मोबाइल फोन भी वापस देने से मना कर दिया। पाकिस्तानी मीडिया ने कहा कि यह मामला इस्लामाबाद द्वारा कूटनीतिक स्तर पर उठाया गया है।

डॉन ने पाकिस्तानी विदेश कार्यालय के हवाले से कहा कि वह भारतीय मिशन के संपर्क में है और इस मुद्दे को जल्द सुलझा लिया जाएगा।

loading...
शेयर करें