आतंकियों से लोहा ले रहे थे जवान, मस्जिद में लग रहे थे पाक जिंदाबाद के नारे

0

पंपोर (कश्मीर)। जम्मू-कश्मीर के पंपाेर में लगातार 48 घंटाें तक भारतीय सेना के जवान आतंकियों से लो‍हा ले रहे थे। इस दौरान पास की एक मस्जिद में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लग रहे थे। खबरों के मुताबिक पंपोर के आस-पास के इलाकों में बनी मस्जिदों में लगे लाउडस्पीकरों से ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’, और ‘हमें क्या चाहिए: आजादी’ के नारों की रिकॉर्डिंग बजती रही थी।

पाकिस्तान जिंदाबाद

पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे खुलेआम

आॅपरेशन के दौरान भारतीय सेना के जवानों को दोतरफा लड़ाई करनी पड़ रही थी। एक तरफ से आतंकी गोलियां बरसा रहे थे तो दूसरी तरफ से सैकड़ों युवा जवानों पर पत्थर फेंक रहे थे। ये लोग गोलियों की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे थे। जवान इन्हें बचाने के लिए ही आतंकियों से लड़ रहे थे। भीड़ को हटाने के लिए पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े, जिसके जवाब में युवकों ने फिर जवानों पर पत्थर फेंके।

मुठभेड़ खत्म होने के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने मस्जिदों में पाक जिंदाबाद नारों की पड़ताल की। हालांकि सुरक्षा बल किसी मस्जिद क‍े अंदर नहीं घुसे। उधर, मुठभेड़ के खिलाफ पुलवामा में अलगाववादियों ने सोमवार को बंद का ऐलान किया था।

आतंकियों ने रची थी बड़ी साजिश

पंपोर मुठभेड़ में भारतीय सेना ने तीन आतंकियों को भून डाला तो पांच जवान भी शहीद हुए। सुरक्षा एजेंसियों के मुता‍बिक यह हमला लश्कर के आतंकियों ने किया था। तीन दिन तक लड़ाई जारी रहने से अंदाजा यह भी लगाया जा रहा है कि आतंकी किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने आए थे। उनके पास बड़ी मात्रा में हथियार थे, जिनके सहारे वे तीन दिन तक गोलियां चला रहे थे।

आम लोगों का दूसरी बार सेना पर हमला

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में दो अलगाववादी गुरिल्ला मारे गए और एक नागरिक घायल हो गया था। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया , “सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की उपस्थिति के बारे में खास खुफिया सूचना मिलने के बाद पुलवामा जिले में अस्ताना मोहल्ला काकपोरा को चारों ओर से घेर लिया।”  इसके बाद कुछ लोगों ने सेना पर पत्थरबाजी की थी।

loading...
शेयर करें