IPL
IPL

पाकिस्तान ने भारत पर मसूद अजहर के लिए लगाई नो एंट्री

पाकिस्तान इस्लामाबाद। पठानकोट हमले पर भारत के दिए गए सबूतों को पाकिस्तान पहले ही नाकाफी बता चुका है। अब पाकिस्तान ने भारत की उस मांग को भी खारिज कर दिया है जिसमें भारत ने जैश ए मोहम्‍मद के सरगना और पठानकोट हमले के गुनहगार मसूद अजहर से संयुक्‍त पूछताछ की बात कही थी।

पाकिस्तान ने क्‍या दिया जवाब

पाकिस्तानी अखबार द नेशन ने एक अधिकारी के हवाले से लिखा है कि भारत मसूद और उसके भाई से पूछताछ के लिए अपनी टीम भेजना चाहता था। लेकिन पाकिस्तान ने यह मांग खारिज कर दी है। पाकिस्तान ने भारत को भरोसा दिलाया है कि वह खुद इन दोनों से गंभीरता से पूछताछ कर रहा है और पठानकोट हमले का सच सामने लाएगा। असल में भारत चाहता है कि हम मसूद को उसे सौंप दें और हमने हर बार मना कर दिया है। अब उसने कहा है कि कम से कम पूछताछ तो करने दी जाए। हमने कह दिया यह भी मुमकिन नहीं है।

भारत की ये थी मांग

पठानकोट हमले की जांच के लिए पाकिस्‍तान भी भारत में अपनी टीम भेजना चाहता था। भारत ने मांग रखी थी कि वह अपनी टीम पाकिस्‍तान भेजकर मसूद और उसके भाई से पूछताछ करेगा। भारत इसके सबूत सौंप चुका है कि 2 जनवरी को पठानकोट एयरबेस पर हमला करने आए आतंकियों के हैंडलर मसूद अजहर और उसका छोटा भाई ही था। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि पाकिस्‍तान के इस रवैये के बाद पाकिस्तानी टीम को पठानकोट आकर जांच करने की इजाजत दी जाएगी या नहीं।

क्‍या हुआ था पठानकोट में

पाकिस्‍तान से आए 6 आतंकियों ने 1 और 2 जनवरी की मध्‍यरात्रि‍ को पंजाब के पठानकोट एयरफोर्स स्‍टेशन पर हमला किया था। आतंकी हमले में शामिल सभी आतंकियों को मार गिराया गया। इस हमले में भारत के सात जवान भी शहीद हुए थे।

छह महीने में हुआ था दूसरा बड़ा हमला

यह छह महीने में पंजाब में दूसरा बड़ा आतंकी हमला था। इससे पहले 27 जुलाई 2015 को गुरदासपुर में आतंकी हमला हुआ था। तब भी आतंकी पाकिस्तान के रास्ते ही आए थे। ये दीनानगर थाने में घुस गए थे और थाने के बगल वाली इमारत में छुपकर फायरिंग करते रहे थे। यह मुठभेड़ 12 घंटे चली थी। इसमें गुरदासपुर एसपी शहीद हो गए थे।

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button