पाकिस्तान ने लिया बदला, अफगानिस्तान में घुसकर बिछा दी आंतकवादियों की लाशें

0

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के सुरक्षा बलों ने शुक्रवार रात अफगानिस्तान में जमात-उल अहरार के शिविरों पर हमले किए और आतंकवादियों के चार ठिकानों तथा एक प्रशिक्षण शिविर को ध्वस्त कर दिया। सूत्रों ने शनिवार को बताया कि ये हमले अफगानिस्तान दूतावास के अधिकारियों को रावलपिंडी स्थित सेना मुख्यालय बुलाए जाने और अफगानिस्तान में छिपे 76 आतंकवादियों की सूची उन्हें सौैंपने के बाद सामने आए हैं।

पाकिस्तान

पाकिस्तान के हमले में उप कमांडर आदिल बाचा की हुई मौत 

‘न्यूज इंटरनेशनल’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान की सेना या सरकार ने इस बारे में हालांकि कोई पुष्टि नहीं की है, लेकिन ज्ञात सूत्रों का कहना है कि सेना ने खैबर तथा मोहमंद एजेंसी की सीमा के आसपास स्थित जमात-उल अहरार के ठिकानों को निशाना बनाया।

पाकिस्तान ने सिंध प्रांत के सेहवान कस्बे में लाल शहबाज कलंदर के दरगाह पर गुरुवार को हुए हमले का आरोप जमात-उल अहरार पर लगाया है। हमले में कम से कम 83 लोगों की मौत हो गई, जबकि लगभग 250 लोग घायल हुए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, आतंकवादियों के शिविर सीमा पर अफगानिस्तान की तरफ स्थित हैं।

सूत्रों के मुताबिक, हमले में समूह के उप कमांडर आदिल बाचा सहित कई आतंकवादी मारे गए। पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने शुक्रवार सुबह अफगानिस्तान में रिसॉल्यूट सपोर्ट मिशन (आरएसएम) के कमांडर अमेरिकी जनरल जॉन निकोल्सन से टेलीफोन पर बातचीत की और अफगानी सरजमीं से पाकिस्तान में आतंकवादी गतिविधियों पर चिंता जताई।

इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के बयान के मुताबिक बाजवा ने निकोल्सन से कहा कि पाकिस्तान में होने वाली अधिकांश घटनाओं की जिम्मेदारी अफगानिस्तान स्थित आतंकवादी संगठनों ने ली है।

बाजवा ने कहा कि इस तरह की आतंकवादी गतिविधियां और उनके खिलाफ हमारे द्वारा कुछ न किया जाना, सीमा पार देश के प्रति हमारी संयम बरतने की वर्तमान नीति को परख रहा है।” अमेरिकी जनरल ने हालिया आतंकवादी घटनाओं में मारे गए लोगों के प्रति शोक जताया और अफगानिस्तान की तरफ से पूरी सहायता का आश्वासन दिया।

इस बीच, पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई शुरू कर दी है।  सुरक्षाबलों ने गुरुवार रात से लेकर अब तक 100 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया है। पाकिस्तान ने सुरक्षा चिंताओं को लेकर तुर्खम सीमा तथा अफगानिस्तान के साथ एक अन्य क्रॉसिंग प्वाइंट को बंद कर दिया है।

एक अधिकारी ने पहचान जाहिर न करने की शर्त पर कहा, “आतंकवादी गतिविधियों की प्रतिक्रिया में हमने अफगानिस्तान सीमा के निकट लक्षित आतंकवादी ठिकानों पर हमले शुरू किए हैं।”

एक अन्य अधिकारी ने कहा कि सुरक्षाबलों ने अफगानिस्तान सीमा के निकट आतंकवादियों के विभिन्न ठिकानों पर सैन्य अभियान चलाने का फैसला किया है।

loading...
शेयर करें