राहुल गांधी ने कहा- पीएम मोदी और राजनाथ भारत को बांटने का काम कर रहे

0

नई दिल्‍ली। कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह पर हमला बोला है। राहुल गांधी ने राजनाथ सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे और पीए मोदी भी भारत देश को बांटने का काम कर रहे हैं। राहुल ने ऐसा इसलिए कहा क्‍योंकि रविवार को राजनाथ सिंह ने कहा था कि पाकिस्‍तान के दस टुकड़े होंगे।

पाकिस्‍तान के दस टुकड़े

पाकिस्‍तान के दस टुकड़े वाले बयान पर राहुल का ट्वीट

पीएम मोदी के सबसे खास माने जाने वाले राजनाथ सिंह ने रविवार को पाकिस्‍तान को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर पाकिस्‍तान सुधरा नहीं तो उसके दस टुकड़े होंगे। इसी बात पर प्रतिक्रिया जताते हुए कांग्रेस उपाध्‍यक्ष ने ट्वीट किया, हां, राजनाथ सिंहजी पाकिस्तान भारत को धार्मिक आधार पर बांटने का प्रयास कर रहा है, क्या आपने यह ध्यान दिया है कि आप और आपके बॉस भी वही कर रहे हैं?

पाकिस्‍तान के दस टुकड़े

बीजेपी ने जताई आपत्ति

बीजेपी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की इस टिप्पणी पर आपत्ति जताई कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह देश को धार्मिक आधार पर बांट रहे हैं। इसके साथ ही बीजेपी ने कहा कि वह ध्यान आकृष्ट करने के विकार से पीड़ित हैं।

राहुल टीआरपी के लिए ऐसा करते हैं: बीजेपी

बीजेपी के सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा कि राहुल ध्यान आकृष्ट करने के विकार से पीड़ित हैं। यह एक शर्मनाक बयान है। वह अच्छी टीआरपी के लिए ऐसा करते हैं। उन्होंने कहा कि पूरा देश और विश्व समुदाय आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान के खिलाफ है, राहुल की टिप्पणी इस्लामाबाद में सत्तारूढ लोगों को बढ़ावा देगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को छोड़कर कोई अन्य पार्टी धार्मिक आधार पर देश को बांटना नहीं जानती। 1984 के सिख विरोधी दंगे इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि संसाधनों पर पहला हक अल्पसंख्यकों का है। हम कहते हैं कि पहला हक गरीबों का है, यह अंतर है।

गृहमंत्री राजनाथ

पाकिस्तान फिर टूटेगा: राजनाथ

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान को हमने 1971 में तोड़ा था, एक बार फिर पाकिस्तान टूटेगा। इस बार हम नहीं वो खुद ही टूट जाएगा. हमने पाकिस्तान के साथ दोस्ती का हाथ बढ़ाया, हमारे प्रधानमंत्री वहां दोस्ती का हाथ बढ़ाने गए थे लेकिन उन्होंने सीजफायर का उल्लंघन कर दिया। राजनाथ ने कहा, ‘हमारे प्रधानमंत्री ने नवाज शरीफ (पाकिस्तानी पीएम) को नई दिल्ली आने का निमंत्रण दिया. हमने उन्हें यहां हाथ मिलाने को नहीं बल्कि अच्छे रिश्तों में सुधार के वास्ते बुलाया। लेकिन उन्होंने हमें गुरदासपुर और पठानकोट दिया। जब हम आतंकावाद के खिलाफ बात करते हैं तो पाकिस्तान क्यों नहीं करता?’

loading...
शेयर करें