इस स्वतंत्रता दिवस पीएम मोदी की जान पर मंडरा रहा खतरा, बुलेटप्रूफ कवर की सलाह

0

नई दिल्ली। इस स्वतंत्रता दिवस पीएम नरेंद्र मोदी की जान को खतरा है। इस बार देश की खुफिया एजेंसियों ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को पहले से ही सतर्क कर दिया है। खुफिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस 15 अगस्त के मौके पर आतंकी संगठन किसी भी हद तक जा सकते हैं। ऐसे में पीएम मोदी के सुरक्षा के विषेश इंतजाम किए जाएंगे।

 पीएम नरेंद्र मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी की जान को खतरा, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

खुफिया एजेंसियों की तरफ से भाषण के दौरान पीएम के मंच को बुलेटप्रूफ छतरी से ढंकने को कहा है। हालांकि पिछले साल भी इस तरह की घटना का अंदेशा लगाया गया था और उससे बचने की व्यवस्था भी की गई थी। लेकिन पीएम मोदी ने ऐन वक्त पर खुले मंच से भाषण देने की इच्छा जताई थी। पीएम की मंशा का ख्याल करते हुये बुलेटप्रूफ सुरक्षा कवच को हटा भी लिया गया था। लेकिन पीएम की सुरक्षा के लिए लाल किले के कुछ महत्वपूर्ण जगहों पर सुरक्षा दस्तों से जुड़े लोगों की तैनाती की गई थी ताकि किसी भी अप्रिय घटना को रोका जा सके।

कश्मीर में तनाव ने बढ़ाई चिंता 

रिपोर्ट के मुताबिक, एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह सलाह कश्मीर में जारी तनाव और सीमा पर घुसपैठ के अलावा हाल के दिनों में आईएस की गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। इसके अलावा सुरक्षा अधिकारियों को आशंका है आतंकी पीएम के सुरक्षा घेरे को ड्रोन से तोड़ने की कोशिश करेंगे। इसलिए भी ज्यादा सतर्क रहना जरूरी हो गया है।

पीएम मोदी ने तोड़ी परंपरा 

खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षा एजेंसियों को आगाह किया कि पीएम की सुरक्षा में किसी तरह की खामी न रहे। बताया जाता है कि पूर्व पीएम इंदिरा गांधी की हत्या के बाद भाषण के दौरान बुलेटप्रूफ सुरक्षा कवच की व्यवस्था की गयी थी। लेकिन वर्ष 2014 में पीएम मोदी ने इस परंपरा को तोड़ दिया। पीएम मोदी के अचानक सुरक्षा कवच लेने से इनकार करने के बाद सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप मच गया। पीएम के सुरक्षा दस्ते में लगी एसपीजी ने स्पाटर लगा कर घेराबंदी की।

loading...
शेयर करें