जो देश का पीएम नहीं कर सकता वो एक ड्राईवर कर सकता है

0

लखनऊ। पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने शुक्रवार को लखनऊ के कल्विन कॉलेज में एक ड्रार्इवर की अहमियत समझाई। पीएम ने कहा कि जो एक ड्राईवर कर सकता है वो मैं भी नहीं कर सकता। कोई भी विदेशी भारत में आता है तो सबसे पहले वह ड्राईवर से मिलता है। ड्राईवर का बर्ताव, उसका सलीका और ईमानदारी उसके मस्तिष्‍क में हिन्‍दुस्‍तान की छवि बनाती है। यही छवि का बखान वह अपने देश में जाकर करता है। इसीलिए पर्यटन स्‍थलों से जुड़े ड्राइवरों को खासतौर से प्रशिक्षण दिया जाता है ताकि भारत का उत्‍तम प्रदर्शित हो सके। ड्राईवर ही ब्रांड अम्‍बेस्डर की तरह काम करता है। पीएम नरेन्‍द्र मोदी यहां 2100 ई रिक्‍शा वितरण कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे।

पीएम नरेन्‍द्र मोदी

पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि ई रिक्‍शा से लखनऊ में आएगा बड़ा बदलाव

पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि ई रिक्‍शा एक छोटा प्रयास है। इससे लखनऊ के पर्यावरण में बदलाव आएगा। 2000 परिवारों की जिंदगी में बदलाव आएगा। जिन्‍हें रिक्‍शे दिए गए उनकी नई जिंदगी की शुरुआत है। सुख शांति का जीवन व्‍यतीत कर सकेंगे। पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि विकास वो है जो आम आदमी के जीवन में बदलाव लाए।

विश्‍व ने स्‍वीकार किया सबसे तेज गति की इकोनॉमी हिन्‍दुस्‍तान की

पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने पूरी दुनिया में मंदी का माहौल है। एक अकेला भारत न सिर्फ आर्थिक स्थिति को ठीक कर पाया बल्कि विश्‍वबैंक से लेकर कई बड़े आर्गनाइजेशन ने यह स्‍वीकार किया है कि सबसे तेज गति की इकोनॉमी हिन्‍दुस्‍तान की है। उन्‍होंने कहा कि आने वाले समय में भारत तेजी से आगे बढ़ने वाला है। हमारा लक्ष्‍य दुनिया की तेज गति से बढ़ने वाली इकोनॉमी नहीं गरीब की जिंदगी में बदलाव लाना है। नौजवानों को रोजगार देना, युवा पीढ़ी अपने पैरों पर खड़ी हो सके। देश का नौजवान नौकरी के लिए दर दर न भटके बल्कि औरों को भी रोजगार दे सके।

इस देश में गरीबों ने खुलवाए 20 करोड़ नए खाते

पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि 40 साल बीत जाने के बाद भी इस देश के गरीब के लिए बैंकों के दरवाजे नहीं खुले। हमने बीड़ा उठाया कि बैंकों में गरीब का खाता भी हो। प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत हमने यह कर दिखाया। उसी का नतीजा है कि 20 करोड़ नए खाते खोले गए। इन खातों में 30 हजार करोड़ रुपया भी जमा कराया गया। ये है गरीब की ताकत।

 

 

loading...
शेयर करें