पीएम मोदी के ईरान दौरे पर हुए 12 समझौते

0

पीएम मोदीतेहरान। ईरान की दो दिवसीय यात्रा पर तेहरान पहुंचे पीएम मोदी ने आज दोनों देशों की दोस्ती को इतिहास की तरह प्राचीन बताया। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच 12 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए, जिसमें तीन चाबहार बंदरगाह के विकास से संबंधित हैं।

पीएम मोदी ने ईरान को बताया पुराना दोस्त

पीएम मोदी ने ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, “भारत और ईरान की मित्रता नई नहीं है। हमारी दोस्ती इतिहास की तरह पुरानी है। कई शताब्दियों से हमारे समाज कला एवं वास्तुकला, विचारों, परंपराओं और संस्कृति एवं वाणिज्य के जरिए जुड़े रहे हैं।”

मोदी ने कहा कि 2001 में गुजरात भूकंप के बाद मदद के लिए आगे आने वाले देशों में ईरान भी है। उन्होंने कहा, “इसी तरह, ईरान के मुश्किल समय में यहां के लोगों के साथ खड़ा रहने पर भारत को गर्व है।”

उन्होंने कहा कि वह रूहानी के नेतृत्व और स्पष्ट दूरदृष्टि से प्रभावित हैं। दोनों देशों के बीच सोमवार को हुई बातचीत द्विपक्षीय समझौतों पर केंद्रित रही। मोदी ने कहा, “हमने क्षेत्रीय स्थिति और वैश्विक मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया।” मोदी ने यह भी कहा कि दोनों देशों के लोगों का कल्याण विस्तृत आर्थिक संबंधों के अनुरूप रहा है।

उन्होंने कहा, “विस्तृत व्यापारिक संबंध, रेलवे, गैस एवं तेल क्षेत्र में साझेदारी, उर्वरक, शिक्षा एवं सांस्कृतिक क्षेत्रों सहित संपर्क हमारी संपूर्ण अर्थव्यवस्था के लिए उत्प्रेरक हैं।” उन्होंने कहा, “चाबहार बंदरगाह और संबंधित बुनियादी ढांचे के विकास के लिए द्विपक्षीय समझौते और इस उद्देश्य के लिए भारत द्वारा प्रदान कराए गए लगभग 50 करोड़ डॉलर की उपलब्धता मील का अहम पत्थर है। इस प्रयास से क्षेत्र में आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलेगा।”

मोदी ने कहा कि वह भारत, ईरान और अफगानिस्तान के बीच त्रिपक्षीय परिवहन और पारगमन समझौते पर हस्तक्षार को लेकर आशान्वित हैं। पीएम मोदी ने वादा किया कि वह और रूहानी दोनों देशों के स्वर्णिम भविष्य के लिए कार्य करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

मोदी रविवार शाम ईरान पहुंचे थे। उन्होंने यहां गुरुद्वारे में मत्था टेका। इसके साथ ही वह सोमवार को भारतीय सांस्कृतिक महोत्सव का उद्घाटन कर रहे हैं। मोदी देश के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला सैय्यद अली हुसैनी खामेनी से भी मुलाकात करेंगे।

loading...
शेयर करें