मोदी जी… आपका सबसे बड़ा भक्त जान देने जा रहा है, प्लीज रोक लीजिए उसे

0

मुंबई। पीएम नरेंद्र मोदी की देश और विदेश में कितनी लोकप्रियता है यह तो जग जाहिर है। मोदी आज जिस मुकाम पर है वो सिर्फ उनके समर्थकों की बदौलत है। पीएम मोदी के भक्त उनके लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। उनके प्रेम में कई बार लोगों ने ऐसा किया भी है। लेकिन इस बार मामला थोड़ा अलग है। प्रधानमंत्री जन औषधि परियोजना के पूर्व डायरेक्टर सुनील शर्मा ने भारत सरकार की नीतियों से आहत होकर खुदकुशी करने की चेतावनी दी है। 20 मार्च 2017 को खुदकुशी के पोस्ट की जानकारी ट्विटर और फेसबुक पर भी पोस्ट की गई है। जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है।

यह भी पढ़ें : छोटे से कमरे में बिना AC के रहते हैं हमारे यूपी के मुख्यमंत्री, नहीं है कोई लग्जरी कार

पीएम मोदी के भक्त

पीएम मोदी के भक्त ने लगाए गंभीर आरोप

शर्मा ने बताया कि इस योजना की नए सिरे से शुरुआत के साथ उन्हें डायरेक्टर के पद पर नियुक्त किया गया। इस योजना के तहत मार्च 2017 तक भारत के 630 जिलों में जेनरिक दवाओं की दुकानें 3000 की संख्या में खोलने की बात कही गई थी। इस बारे में सरकार की तरफ से बड़े कदम भी उठाए गए। सरकार ने इस मामले में 2.5 करोड़ रुपये खर्च कर विज्ञापन देकर दुकान खोलने के नाम पर आवेदन मंगाए।

यह भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मुस्लिम चेहरे को दी मंत्रिमंडल में जगह, पंकज देखते रहे

पीएम मोदी के भक्त

सरकार के दिए विज्ञापन पर दुकान खोलने के लिए 28 से 30 हजार आवेदन आए पर सरकार के विज्ञापन में दुकान खोलने की शर्तों के बारे में सही तरीके से नहीं बताया गया, जिसके चलते 800 ही दुकानें खुल सकी हैं। वहीं सरकार ने इस जन हितकारी योजना को ठंडे बस्ते में डाल दिया है। सुनील शर्मा ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री जन औषधि परियोजना के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर विप्लब चटर्जी सरकार की जन लाभकारी योजना के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

loading...
शेयर करें