#RIo Olympic : सिंधु ने जगाई भारत के लिए पदक की उम्मीद

0

रियो डी जनेरियो। भारत की स्टार महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु सोमवारर को यहां जारी 31वें ओलम्पिक खेलों के एकल मुकाबलों के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गईं। विश्व चैम्पियनशिप में दो बार कांस्य जीत चुकीं सिंधु ने चीनी ताइपे की खिलाड़ी ताई जू यिंग को सीधे गेम में हरायापीवी सिंधु

पीवी सिंधु ने क्वार्टर फाइनल में  प्रवेश कर जिंदा रखीं भारत की उम्मीदें

महिला वर्ग में भारत की एकमात्र उम्मीद पीवी सिंधु ने रियोसेंट्रो पवेलियन में आयोजित इस बैडमिंटन मैच को 21-13, 21-15 से जीता। यह मैच 40 मिनट चला। सोमवार को हुए इस पहले ताई और सिंधु के बीच कुल छह मैच हुए थे, जिनमें से चार में ताई ने जीत हासिल की थी लेकिन अहम पड़ाव पर सिंधु ने बाजी मारते हुए भारत के लिए बैडमिंटन में पदक की उम्मीदें जिंदा रखीं।

क्वार्टर फाइनल में हालांकि जीत के लिए सिंधु को अपना पूरा दमखम लगाना होगा क्योंकि सामना चीन की यिहान वांग से होगा, जो लंदन ओलम्पिक में एकल वर्ग का रजत जीत चुकी हैं। साथ ही वह एशियाई चैम्पियन भी हैं और 2011 विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण हासिल कर चुकी हैं।

विकास क्वार्टर फाइनल में हारने के बाद हुए बाहर

भारत के मुक्केबाज विकास कृष्ण यादव  ओलम्पिक खेलों से बाहर हो गए हैं। हरियाणा के विकास को क्वार्टर फाइनल में हार मिली। हार के बाद विकास ने देशवासियों से माफी मांगी है। इसके साथ रियो ओलम्पिक में मुक्केबाजी में भारत की चुनौती समाप्त हो गई है।

भारत के शिवा थापा और मनोज कुमार पहले ही हार चुके हैं। थापा तो पहले ही दौर में हारे थे जबकि मनोज को दूसरे दौर में हार मिली।विकास को सोमवार को 75 किलोग्राम वर्ग में 2015 में विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक जीत चुके उजबेकिस्तान के बेकतेमीर मेलीकुजीव ने 3-0 से हराया।

loading...
शेयर करें