पूरे जीवन में बस एक बार नहाती हैं यहां की महिलाएं, कारण जान उड़ जाएंगे तोते

दुनिया में ऐसे बहुत से लोग लोग हैं जो नहाना कम पसंद करते हैं, लेकिन जो लोग नहाना नहीं पसंद करते वह भी दो-चार दिन में एक बार जरूर नहा लेते हैं. लेकिन आज हम एक ऐसे शहर के बारे में बताएंगे जहाँ की महिलाएं अपने पूरे जीवन में बस एक बार नहाती है.

नहाना

अफ्रीका के नार्थ नामीबिया के कुनैन प्रांत में रहने वाली हिम्बा ट्राइब की महिलाओं को नहाना मना है. यहां की महिलाएं हाथ धोने के लिए भी पानी का इस्तेमाल नहीं करती हैं. फिर भी इन्हें अफ्रीका की सबसे खूबसूरत महिला माना जाता है. चलिए हम आपको बताते हैं ये महिलाएं जो नहाती नहीं है वह अपनी बॉडी को कैसे साफ रखती हैं.आप ये सुनकर हैरान हो जाएंगे.

हिम्बा जनजाति की महिलाएं न नहाने के बाद भी खुद को साफ़-सुथरा रखने के लिए खास प्र्रकार की जड़ी-बूटियों को पानी में उबालकर उसके धुएं से अपनी बॉडी को साफ़ और फ्रेश रखती हैं. जड़ी-बूटी की वजह से इनकी बॉडी न नहाने के बाद भी सुंगध से महकती रहती है.

अक्सर लोग्फ़ नहाने के बाद बॉडी लोशन लगाते होंगे लेकिन ये महिलाएं शरीर की नमी बरकरार रखने के लिए ऐसी चीज लगाती हैं जिसे आप सोच भी नहीं सकते. इस जनजाति की महिलाएं अपनी स्किन को धूप से बचाने के लिए खास तरह के लोशन का इस्तेमाल करती हैं. ये लोशन जानवर की चर्बी और हेमाटाइट (लोहे की तरह एक खनिज तत्व) की धूल से तैयार किया जाता है.

हेमाटाइट की धूल की वजह से उनके त्वचा का रंग लाल हो जाता है. ये खास तरह का लोशन उन्हें कीड़ों के काटने से भी बचाता है. यहां की महिलाओं को रेड मैन के नाम से भी जाना जाता है.

यहां की महिलाओं के बारे में सबसे खास बात ये है कि हिम्बा जनजाति में परिवार का मुखिया पुरुष ही क्यों न हो, लेकिन आर्थिक फैसले लेने का हक सिर्फ महिलाओं को ही है. दूसरी सबसे बड़ी बात ये रही कि यहां की महिलाएं साल में सिर्फ एक बार ही नहाती हैं, वो भी अपनी शादी के समय.

Related Articles