पाकिस्तान की नई चाल: कुलभूषण को फांसी देने के लिए तैयार किया नया डोजियर

नई दिल्‍ली। पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को लेकर पाकिस्‍तान लगातार अडि़यल रुख अपना रहा है। पाकिस्‍तान दिन पर दिन नई चाल चल रहा है। पाकिस्‍तान ने कहा है कि वह कुलभूषण जाधव के सबूत संयुक्‍त राष्‍ट्र को सौंपेगा।

पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव

पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को रिहा कराने की पुरजोर कोशिश

पाक ने कुलभूषण जाधव को जासूसी करने के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है, जिसका भारत ने कड़ा विरोध किया है। पाकिस्तान ने जाधव को मार्च 2016 में गिरफ्तार किया था. इस मसले को लेकर दोनों देशों के बीच रिश्ते बेहद खराब हो गए हैं।

पाकिस्‍तान ने तैयार किया नया डोजियर

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक नया डोजियर एक वीडियो और कोर्ट के समक्ष दिए गए कुलभूषण के बयान के आधार पर तैयार किया गया है। इस वीडियो में कुलभूषण का कथित तौर पर कबूलनामा है। पाक का आरोप है कि जाधव कराची और बलूचिस्तान में जासूसी और गैर कानूनी गतिविधियों में शामिल रहा है। इसमें कोर्ट मार्शल जनरल की प्रमाणित रिपोर्ट को भी शामिल किया गया है। इसके अलावा जाधव के खिलाफ अदालत में चलाई गई कार्रवाई की जानकारी भी दी गई है।

भारत ने मांगी चार्जशीट और फैसले की कॉपी

शुक्रवार को पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त गौतम बंबावाले ने पाक से जाधव के खिलाफ दाखिल चार्जशीट और फैसले की प्रति उपलब्ध कराने को कहा. भारत ने पाक को इस बात से भी अवगत करा दिया कि वह जाधव मसले पर फैसले के खिलाफ अपील करेगा। इसके लिए पाकिस्तान आर्मी एक्ट का अध्ययन किया जा रहा है। पाकिस्तानी विदेश सचिव तेहमीना जंजुआ से मुलाकात कर बंबावाले ने जाधव तक राजनयिक पहुंच की मांग भी की। हालांकि पाक ने अंतरराष्ट्रीय कानूनों की धज्जियां उड़ाते हुए इसको खारिज कर दिया। भारत की ओर से जाधव तक राजनयिक पहुंच की अपील 14वीं बार की गई थी।

पाक की दलील

पाक विदेश सचिव तेहमीना जंजुआ ने दलील दी कि यह मामला जासूसी से जुड़ा होने के चलते जाधव तक राजनयिक पहुंच की इजाजत नहीं दी जा सकती है। हालांकि अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत दूसरे देश के आरोपी नागरिक को उस देश के राजनयिक से मुलाकात की इजाजत देने का प्रावधान है। ऐसे में पाक अंतरराष्ट्रीय कानूनों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहा है।

भारत ने दी कड़ी चेतावनी

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जाधव को लेकर पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा था कि जाधव के खिलाफ इतना कड़ा फैसला लेने में पाकिस्तान सावधानी बरते। वरना उसको इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पाक के इस कदम से दोनों देशों के द्विपक्षीय रिश्ते खराब हो सकते हैं।

भारत-पाक रिश्ते और बिगड़े

पाकिस्तान की ओर से अंतरराष्ट्रीय कानूनों को दरकिनार कर पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को फांसी देने के चलते दोनों देशों के बीच रिश्ते बेहद खराब हो गए हैं। भारत ने पाक के साथ हर स्तर की वार्ता रोक दी है। जहां एक ओर पाकिस्तान ने कुलभूषण से भारतीय राजदूत से मुलाकात की अपील को 14वीं बार खारिज कर दिया हैं, वहीं भारत ने पाकिस्तान के साथ सभी तरह की द्विपक्षीय बातचीत पर रोक लगा दी है। शुक्रवार को भारत सरकार ने समुद्री सुरक्षा को लेकर पाकिस्तान के साथ 17 अप्रैल को होने वाली वार्ता को भी रद्द कर दिया है। इसके साथ ही भारत ने पाकिस्तान को सीधे तौर पर अवगत करा दिया कि वह पाकिस्तान मैरीटाइम सिक्युरिटी एजेंसी (PMSA) के प्रतिनिधिमंडल की मेजबानी करने को कतई तैयार नहीं. यह प्रतिनिधिमंडल रविवार को भारत आने वाला है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button