यह भारतीय बना ‘इंडियन पिकासो’, पेंटिंग के लिए मिली बड़ी रकम

0

नई दिल्ली। साल 1965 के बाद फेमस अब्सट्रैक्ट पेंटर वासुदेव एस गायतोंडे की कैनवस ऑयल पेंटिंग सबसे महंगी रकम पर बिकने वाली पेंटिंग होगी। डोमेस्टिक आर्ट मार्केट की निगरानी करने वाली कंपनी आर्टरी इंडिया ने इस बात की जानकारी दी है। कंपनी ने 500 सबसे महंगे भारतीय आर्टवर्क की सूची आर्टरी टॉप 500 वर्क्स नाम से जारी की है। इस सूची में शीर्ष पर गायतोंडे की पेंटिंग है जो 44, 15,008 डॉलर यानी 29.3 करोड़ रुपये में बिकी थी।

पेंटर वासुदेव एस गायतोंडे

पेंटर वासुदेव एस गायतोंडे ने बनाई थी पेंटिंग

कंपनी ने बताया कि ये सभी 500 आर्टवर्क की सामूहिक कीमत 36.79 करोड़ डॉलर यानी 1936.6 करोड़ रुपये है। गायतोंडे की पेंटिंग पिछले साल दिसंबर में मुंबई में क्रिस्टी द्वारा आयोजित बोली में बिकी थी। इस सूची में 32 कलाकारों के आर्टवर्क शामिल हैं। बांबे प्रोगेसिव मुवमेंट के प्रणेता रहे मॉर्डनिस्ट पेंटर सैयद हैदर रजा की सर्वाधिक 77 पेंटिंग को इस सूची में स्थान मिला है।

लिस्ट के अन्य शीर्ष आर्टवर्क में 40 लाख 85 हजार डॉलर में बिकी फ्रांसिस न्यूटन सूजा की बर्थ, 37 लाख 92 हजार चार सौ डॉलर में बिकी गायतोंडे की एक अन्य अनटाइटल्ड पेंटिंग, 34 लाख 86 हजार 965 डॉलर में बिकी रजा की सौराष्ट्र तथा 33 लाख 87 हजार 900 डॉलर में बिकी राजा रवि वर्मा की राधा इन द मूनलाइट शामिल है।

Edited by- Jitendra Nishad

loading...
शेयर करें