पेरिस हमले के लिए आईएस को लेनी पड़ी ‘गे’ की मदद

0

ब्रसेल्स। समलैंगिकों का सिर कलम करने वाले आईएस ने पेरिस हमले के लिए एक गे का इस्तेमाल किया। यह सच पेरिस हमले के असल गुनाहगार सालाह अब्देस्लाम की गिरफ्तारी के बाद सामने आया है। सालाह अब्देस्लाम को जिंदा पकड़ लिया गया है। ब्रसेल्स में अपराध निरोधक दस्ते की रेड में उसके पैर पर गोली भी लगी है। बेल्जियम के कानून मंत्री ने अब्देस्लाम की गिरफ्तारी की घोषणा की है।

पेरिस हमले

पेरिस हमले के पीछे का सच

ब्रसेल्स में सालाह अब्देस्लाम को मॉलेनबीक में एक ऑपरेशन के दौरान पकड़ा गया। इस रेड में एक और आदमी जख्मी हुआ है, जबकि तीन अन्य लोग गिरफ्तार किए गए हैं। जिस जगह से अब्देस्लाम पकड़ा गया है, उससे महज 100 मीटर की दूरी पर अब्देस्लाम अपने बड़े भाई के साथ भागा था। सालाह अब्देस्लाम अक्सर गे बार में देखा जाता था। पेरिस हमले के पहले भी वह ब्रसेल्स के गे बार में गया था। हालांकि यह अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि आईएस ने पेरिस हमले के लिए एक गे का इस्तेमाल क्यों किया।

आर्इएस का संगठन समलैंगिकों के खिलाफ है। ऐसे लोगों को आईएस सजा देता है। उनका सिर कलम कर दिया जाता है। इतना ही नहीं, आईएस शराब को भी हराम मानता है। ऐसे लोगों को आईएस जिस्मानी सजा देता है। लेकिन सालाह अब्देस्लाम शराब भी पीता था। इसके बावजूद पेरिस हमले में आईएस ने ऐसे लोगों की मदद ली। वैसे खबरें यह भी हैं कि इस हमले के लिए सालाह अब्देस्लाम ने अपने पुराने दोस्त अब्देलहामिद अबाओउद की मदद लेने की कोशिश की थी। दोनों पुराने दोस्त हैं और पांच साल पहले जेल भी गए थे। खबरों के मुताबिक जेल भी ही दोनों का ब्रेनवॉश किया गया। उन्हें कट्टर बनाया गया। बता दें कि हमले के बाद सालाह अब्देस्लाम और उसके भाई ब्राहिम ने खुद को उड़ाने का प्लान बनाया था, लेकिन अब्देस्लाम खुद को नहीं उड़ा पाया था।

loading...
शेयर करें