दो दिन की बारिश ने खोली योगी के दो महीने के पैचलेस अभियान की पोल

0

इलाहाबाद। शहर में कुछ दिन पहले उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने सड़कों पर पैचलेस अभियान को लेकर अफसरों से बहुत बड़ी-बड़ी बातें की थी। इसके साथ ही 100 फीसदी काम होने का दावा भी किया था। लेकिन शहर की झमाझम बारिश ने सबकुछ साफ़ कर दिया और उनकी सच्चाई सामने आ गयी।

पैचलेस अभियान

पैचलेस अभियान ऊपर से मजबूत और अंदर से पोला है

दरअसल, ऐसा माना जा रहा है कि इधर दो दिनों की हुई बारिश के दौरान 500 करोड़ से अधिक की सड़कें पानी में बह गयी। इसके अलावा 20 करोड़ से अधिक के पैचलेस अभियान भी मिट्टी में मिलकर ख़ाक हो गए। जिसकी वजह से सभी अफसर अपनी किस्मत को कोस रहे है।

बता दें, पिछले दो महीने से उपमुख्यमंत्री ने जिले में गड्ढामुक्त सड़कों को लेकर अभियान चलाया था। लेकिन दो दिन की हुई बारिश ने दो महीने से चल रहे अभियान पर पानी फेर दिया और पोल खुल कर सामने आ गयी। तेज बारिश के बहाव में सड़कों पर डाले गए गिट्टी डामर भी बह गए।

इससे इतना तो साफ़ हो गया है कि जिला प्रशासन का अभियान ऊपर से मजबूत और अंदर से पोला है। स्मार्ट सिटी बनने जा रहे इलाहाबाद शहर में दो दिनों की बारिश में ही 100 से अधिक स्थानों में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए। इतना ही नही, कहीं-कहीं तो सड़क धंसने के कारण वाहनों के फंस जाने तक की घटनाएं भी हुईं।

इस अभियान को चलाने का मकसद ये था कि उत्तर प्रदेश में जब से योगी सरकार बनी है तभी से शहर में सड़कों की खस्ता हालत में सुधार होने लगा था। इसके लिए शहर की 26 सड़कों को चुना गया था। जिसके अंतर्गत ये फैसला लिया गया था कि 15 जून तक सभी सड़कों को पैचलेस बनाया जायेगा। इसको लेकर ये अभियान चलाया गया था।

loading...
शेयर करें