राष्ट्रपति ने मरीजों और डॉक्टर्स के अंतर को खत्म करने की उठाई जिम्मेदारी

0

हैदराबाद।  राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को दांत के मरीजों और मौजूद दंत चिकित्सकों के अंतर को भरने का आह्वान किया। उन्होंने चिकित्सकों से सेवा प्रदान करने के नवीन मॉडल विकसित करने की अपील की। मुखर्जी ने कहा कि दंत चिकित्सा शिविरों और दंत शिक्षा शिविरों के आयोजन के अलावा मोबाइल दंत क्लीनिकों को बढ़ाने की जरूरत है।

प्रणब मुखर्जी

प्रणब मुखर्जी ने मरीजों और डेंटल डॉक्टर्स के अंतर को खत्म करने की उठाई जिम्मेदारी 

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी सिकंदराबाद के आर्मी कॉलेज ऑफ डेंटल साइंसेज के दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश में 300 से ज्यादा डेंटल कॉलेज है, इससे 30,000 दंत चिकित्सक हर साल निकल रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह संख्या खास तौर से उपनगरीय और ग्रामीण इलाकों में अपर्याप्त है जबकि दंत चिकित्सक-मरीज का अनुपात छोटा है। शहरी इलाके में पहले ही 1: 8,000 का अनुपात है जो बहुत कम है। ग्रामीण इलाकों में दंत चिकित्सक और आबादी का अनुपात काफी विकट है, वहां 50,000 लोगों पर एक दंत चिकित्सक हैं।

loading...
शेयर करें