उस दिन सिर्फ इस शख्स को था पता कि थोड़ी देर में मरने वाली हैं प्रत्यूषा !

0

मुंबई। प्रत्यूषा बनर्जी सुसाइड केस में अब एक नया ट्विस्ट सामने आया है। प्रत्यूषा के वकील का कहना है कि राहुल राज सिंह को पहले से पता था कि प्रत्यूषा सुसाइड करने वाली हैं। प्रत्यूषा सुसाइड केस में उनके ब्वॉयफ्रेंड राहुल राज सिंह को शक के घेरे में लिया गया है। सोमवार को हाईकोर्ट में सुनवाई के बाद राहुल को एंटीसिपेटरी बेल मिल गई।

यह भी पढ़ें : ऋतिक और कंगना की फोटो हुई लीक, इसे देखकर समझ जाएंगे इनके रिश्ते की गहराई

 प्रत्यूषा बनर्जी

प्रत्यूषा बनर्जी की आखिरी कॉल की रिकॉर्डिंग सुनेगी कोर्ट

बॉम्बे हाईकोर्ट में सरकारी वकील ने दावा किया है कि प्रत्यूषा ने मरने से पहले राहुल को कॉल किया था और बता दिया था कि वो सुसाइड करने जा रही हैं। वकील का कहना है कि प्रत्यूषा ने सुसाइड नहीं किया है बल्कि उसका मर्डर हुआ है। इस पूरे मामले पर जस्टिस मृदुला भाटकर ने फैसला किया है कि वो प्रत्यूषा और राहुल के बीच तीन मिनट की आखिरी फोन कॉल की रिकॉर्डिंग सुनेंगी उसके बाद ही आगे की कार्यवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े : अच्छा रिस्पॉस मिलने के बाद भी जल्द बंद हो जाएगा कपिल का नया शो

हाल ही में प्रत्यूषा के विसरा की केमिकल एनालिसिस रिपोर्ट में भी यह खुलासा हुआ था कि सुसाइड से पहले प्रत्यूषा बेहद नशे में थी। प्रत्यूषा की बॉडी में 135 एमजी अल्कोहल मिला था जो किसी भी शख्स को नॉर्मल कंडीशंस में रखने की 30 एमजी की लिमिट से कहीं ज्यादा है। प्रत्यूषा की मौत का कारण उनके नशे की हालत को भी माना जा रहा है।

राहुल ने पुलिस को जो बयान दिया है उसके मुताबिक

मैं घर पर नहीं था खाना पैक कराने के लिए बाहर गया हुआ था। जब मैं घर लौटा तो पहले बेल बजाई, लेकिन वह ऑफ थी। मेरी चाबी काम नहीं कर रही थी, क्योंकि डबल लॉक था। मैंने दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई रिस्पॉन्स नहीं मिलने पर मैंने कॉल करना शुरू किया, फिर मैसेज किया। मैं नीचे उतर आया। ताला ठीक करने वाले को लाया। हम दूसरी चाबी बनवाने के बारे में सोच रहे थे। उसी दौरान हमारा नौकर आ गया। मैंने उससे कहा कि वह बालकनी से कूद कर दरवाजे को अंदर से खोले।”

घर में घुसते ही मैंने देखा कि प्रत्यूषा पंखे से लटक रही है। मैं तुरंत उसकी ओर दौड़ा और उसके पैरों के नीचे अपना कंधा रख दिया। ताला मरम्मत करने वाले ने उसका दुपट्टा काटा। मैंने उसके चेहरे पर पानी के छींटे मारे। उसके चेस्ट को पम्प करना शुरू किया और उसकी सांस वापस लाने के लिए माउथ-टू-माउथ प्रॉसेस की। इसके बाद मैंने उसे तुरंत उठाया और नीचे ले गया। मैं कार में उसके बगल में बैठा। मैं परेशान था और जितनी जल्दी हो सका, सिग्नल तोड़ते हुए हॉस्पिटल पहुंचाया।”

 

 

 

loading...
शेयर करें