प्रमुख सचिव राजीव कुमार की हाईकोर्ट में अपील खारिज, जा सकते हैं जेल

लखनऊ। प्रमुख सचिव राजीव कुमार को हाईकोर्ट से भी राहत नहीं मिली। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भ्रष्टाचार के केस में सीबीआई कोर्ट से तीन वर्ष के कठोर कारावास की सजा पाए प्रमुख सचिव राजीव कुमार की अपील खारिज कर दी है। उनकी सजा बरकरार रखने का आदेश जारी किया है। प्रमुख सचिव का मामला बीते तीन साल से कोर्ट में चल रहा था। अपील ख़ारिज होने के बाद अब प्रमुख सचिव राजीव कुमार को जेल भी जाना पड़ सकता है।

प्रमुख सचिव राजीव कुमार

प्रमुख सचिव राजीव कुमार को सीबीआई कोर्ट ने तीन साल की सजा सुनाई थी

गौरतलब है कि प्रमुख सचिव राजीव कुमार को सीबीआई कोर्ट गाजियाबाद ने 20 नवम्बर 2012 को भ्रष्टाचार निवारण एक्ट में तीन वर्ष की कठोर कारावास की सजा सुनाई थी। उन पर भ्रष्टाचार का आरोप उस समय लगा था जब वे नोएडा अथारिटी में बतौर डिप्टी सीईओ तैनात थे। गत 18 फरवरी को प्रदेश सरकार ने इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भ्रष्टाचार के केस में सीबीआई कोर्ट से तीन वर्ष के कठोर कारावास की सजा पाए वरिष्ठ आईएएस अधिकारी राजीव कुमार को प्रमुख सचिव नियुक्ति जैसे महत्वपूर्ण पद से हटा कर महानिदेशक इमडप बनाया था। राहत पाने के लिए राजीव कुमार ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में अपील की थी। उन्हें कोर्ट से राहत मिलने की उम्मीद थी लेकिन हाईकोर्ट ने उनकी अपील खारिज कर दी। अपील खारिज होने के बाद राजीव कुमार के जेल जाने की आशंका बढ़ गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button