चैम्पियन के घर में घुुसकर जबरदस्‍त पंगेबाजी

0

पटना| स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी सीजन-4 गुरुवार से अपने चौथे दौर में प्रवेश कर रहा है। चौथे दौर में मौजूदा चैम्पियन पटना पाइरेट्स के घर-पटलीपुत्र स्पोर्ट्स काम्पलेक्स में कुल सात मैच खेले जाएंगे, जिनमें से तीन में विपक्षी टीमें मौजूदा चैम्पियन के खिलाफ हल्ला बोलेंगी। चूंकि यह पाइरेट्स का गढ़ है, लिहाजा प्रो कबड्डी के बीते सीजन में यू मुम्बा को हराकर चैम्पियन बनने वाली इस टीम की चर्चा बनती है। राइट और लेफ्ट कार्नर के बेहतरीन डिफेंडर माने जाने वाले धर्मराज चेरालाथन की कप्तानी में खेल रही इस टीम ने अब तक खेले गए तीन मैचों में अजेय रही है। इसके खाते में 15 अंक हैं और यह आठ टीमें की तालिका में पांचवें स्थान पर है।

प्रो कबड्डी

प्रो कबड्डी का चौथा दौर पटना में

अपने घर में खेलते हुए इसके पास तालिका में शीर्ष पर पहुंचने का शानदार मौका है, जहां फिलहाल 20 अंकों के साथ जयपुर पिंक पैंथर्स काबिज हैं। पुनेरी पल्टन के भी 20 अंक हैं लेकिन वह दूसरे स्थान पर है। इन दोनों टीमों ने 6-6 मैच खेले हैं और तीन-तीन जीते हैं। दो-दो मैचों में इनकी हार हुई है। पाइरेट्स को प्रो कबड्डी के इस सीजन में अपने घर में पहला मैच बेंगलुरू बुल्स के खिलाफ खेलना है, जो पांच मैचों में से तीन जीतकर 18 अंकों के साथ फिलहाल तालिका में तीसरे स्थान पर विराजमान है। खास बात यह है कि बुल्स को पांच में से सिर्फ एक मैच में हार मिली है। उसे दबंग दिल्ली ने जयपुर में हराया था।

प्रो कबड्डी में पाइरेट्स ने अब तक पुनेरी पल्टन को छह अंकों, यू मुम्बा को दो अंको और तेलुगू टाइटंस को दो अंकों से हराया है। उम्मीद है कि उसे अपने घर में बड़े अंतर से जीत मिल सकेगी और इसकी बदौलत शीर्ष पर पहुंच सकेगा। 7 से 10 जुलाई तक चलने वाले चौथे दौर में सात जुलाई को सिर्फ एक मैच खेला जाएगा, जिसमें पाइरेट्स की भिड़ंत बुल्स से होगी जबकि दूसरे दिन बुल्स का सामना यू मुम्बा तथा पाइरेट्स का सामना बंगाल वॉरियर्स से होगा, जो फिलहाल तालिका में सबसे नीचे हैं। इसके बाद 9 जुलाई को ही वॉरियर्स का सामना पल्टन से और पाइरेटस का सामना दबंग दिल्ली से होगा। दिल्ली तालिका में सातवें और टाइटंस छठे स्थान पर हैं।

पटना चरण के अंतिम दिन 10 जुलाई को दिल्ली का सामना टाइटंस से होगा जबकि दूसरे मुकाबले में पाइरेट्स की भिड़ंत जयपुर पिंक पैंथर्स से होगी। इसके बाद टीमें एक दिन के आराम के बाद 12 जुलाई से बेगलुरू चरण खेलेंगी। पाइरेट्स को शीर्ष पर पहुंचना है तो उसे अपने खेल के स्तर में सुधार लाना होगा और खिताब की रक्षा के लिए तो इसके बिना काम ही नहीं चलेगा। कई विभागों में यह टीम पिछड़ती नजर आ रही है।

प्रति मैच सफल रेड और प्रति मैच सफल रेड प्रतिशत के मामले में यह टीम दूसरों से आगे है लेकिन सफल रेड (कुल) के मामले में यह सबसे पीछे है। इस टीम ने अब क कुल 45 कुल सफल रेड किए हैं जबकि जयपुर के 85 हैं। हां, यहां गौर करना जरूरी है कि पाइरेट्स ने सिर्फ तीन मैच खेले हैं जबकि बाकी की सभी टीमें पांच से अधिक मैच खेल चुकी हैं। असल बात यह है कि पाइरेट्स अब तक अजेय हैं और इसी कारण स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी सीजन-4 के तीसरे चरण की समाप्ति के बाद तालिका में पांचवें स्थान पर काबिज होने के बाद भी उन्हें कोई कमतर नहीं आंक रहा है क्योंकि इस टीम ने बीते सीजन मेमं साबित कर दिया था कि वह कभी भी हालात को अपने हक में कर सकती है। ऐसे में पाइरेट्स के घर में कबड्डी के असली पंगा में दर्शकों को भरपूर आनंद आएगा, इसमें कोई शक नहीं लेकिन बारिश उनके उत्साह में खलल डाल सकती है। बीते कुछ दिनों से पटना में लगातार बारिश हो रही है, जिसके कारण शहर के कई हिस्सों में जलजमाव की स्थिति है।

loading...
शेयर करें