यूपी पुलिस की हैवानियत, बस से उतारकर रातभर करते रहे गैंगरेप और फिर…

0

फर्रुखाबाद। जब कानून का रखवाला ही भक्षक बन जाये तो समाज में रह रहे लोग अपने आप को कैसे सुरक्षित महसूस कर सकते हैं। हर जिले के पुलिस लाइन को सबसे सुरक्षित एरिया माना जाता है, लेकिन आज के समय में इस जगह पर भी महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। जी हां शनिवार युवती के साथ गैंगरेप किया। इनके खिलाफ मामला दर्ज कर इनकी तलाश की जा रही है।

फर्रुखाबाद पुलिस लाइन

फर्रुखाबाद पुलिस लाइन में युवती के साथ हुआ गैंगरेप

दरअसल ये दरिंदे पुलिस की वर्दी में पुलिस लाइन के अंदर एक युवती को बंधक बनाकर हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए रेप किया। जैसा की बता दें ये युवती अपने मामा के घर फर्रुखाबाद आ रही शाहजहांपुर की किशोरी को गांव के ही युवक व उसके साथी सिपाही ने मामा के घर पहुंचाने के बहाने पुलिस लाइन ले जाकर गैंगरेप किया। इसके बाद आरोपियों ने उसे रात भर बंधक बनाकर रेप करते रहे लेकिन युवती सुबह उन्हें चकमा देकर भाग निकली। जिसके बाद पीड़िता एसपी से गुहार लगाई तो पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया।

ये घटना तब हुआ जब शाहजहांपुर के थाना अल्लाहगंज के चिलौआ निवासी 17 वर्षीय किशोरी के मामा शहर के जसमई दरवाजा के निकट रहते हैं। जब किशोरी शनिवार सुबह अपने घर से मामा के यहां आने के लिए बस से निकली तभी पांचाल घाट पर बस खड़ी हुई तो गांव का ही उपेन्द्र त्रिवेदी बस में चढ़ा और किशोरी को नीचे बुलाया। युवक के पहचान पर किशोरी नीचे उतर आई। जिसके बाद उपेन्द्र ने कहा कि उसके पास कार है, वह उसे मामा के घर छोड़ देगा। वहीँ कर में  बैठा अल्लाहगंज में चल रही यूपी 100 का चालक अजय कुमार भी था। सिपाही अजय व उपेंद्र किशोरी को पुलिस लाइन ले गए। उसे ब्लाक नंबर आठ के कमरा नंबर छह में बंद कर दोनों ने रात भर कई रेप किया जिसके बाद युवती ने उन्हें चकमा देकर सुबह वहां से भागी और बस में बैठकर गांव पहुंची।

पुलिस दोनों सिपाहियों को बचाने में जुटी

तब युवती ने इसकी सुचना अपने मामा से दी। युवती के मामा किशोरी को लेकर एसपी के पास पहुंचे। एसपी के आदेश पर फतेहगढ़ कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया। रात में कोतवाली प्रभारी किशोरी को लेकर पुलिस लाइन गए। उसने उस कमरे की पहचान कर ली, जिसमें उसे बंधक बनाकर दुष्कर्म किया गया। बताया गया वह कमरा फील्ड यूनिट में तैनात सिपाही दिनेश चंद्र के नाम है।

कोतवाली प्रभारी अनूप निगम ने बताया तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। एसपी दयानंद मिश्रा ने दोनों सिपाहियों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं। घटना को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपी सिपाही फरार हैं। वहीं पुलिस दोनों सिपाहियों को बचाने में जुटी है।

loading...
शेयर करें