उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा तेजस, इंडियन नेवी ने कर दिया रिजेक्ट

0

नई दिल्ली। भारतीय नेवी ने अपने ही देश में बने फाइटर प्लेन तेजस को रिजेक्ट कर दिया है। नेवी के अधिकारियों ने तेजस के रिजेक्शन की वजह इसका वजन बताया है। अधिकारियों का कहना है कि तेजस के अधिक वजन की वजह से इसके टेक ऑफ और लैंडिंग में काफी दिक्कत आती है। आपको बता दें कि तेजस को इसी वर्ष एयरफ़ोर्स में शामिल किया गया था। हालांकि अब नेवी इसका आप्शन तलाशना शुरू कर दिया है।

फाइटर प्लेन तेजस

फाइटर प्लेन तेजस को नेवी ने किया रिजेक्ट 

नेवी के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, नेवी चीफ एडमिरल सुनील लांबा ने कहा है कि सिंगल इंजन वाला तेजस फुल टैंक फ्यूल भरने और हथियारों से लैस होने के बाद बहुत भारी हो जाता है। ऐसे में एयरक्राफ्ट कैरियर से इसके टेक ऑफ और लैंडिंग में दिक्कत आती है।

स्वदेशी तकनीक वाला पहला फाइटर प्लेन तेजस इसी साल एयरफोर्स में शमिल किया गया है। हाल ही में शामिल हुआ भारतीय वायु सेना में जो कि 50 हजार फीट तक की उड़ान भर सकता है। दुश्मन पर हमला करने के लिए इसमें हवा में मार करने वाली डर्बी मिसाइल लगी है।

यही नहीं जमीन पर निशाने लगाने के लिए आधुनिक लेजर गाइडेड बम भी लगे हुए हैं। यह पुराने मिग 21 से कहीं ज्यादा आगे है। यह चीन और पाकिस्तान के साक्षा उपक्रम से बने जेएफ-17 से कहीं ज्यादा बेहतर है। तेजस का फ्लाइट कंट्रोल सिस्टम जबरदस्त है और कलाबाजी में इसका कोई सानी नहीं है।

 

loading...
शेयर करें