ISIS का दावा, फादर टाॅम काे चढ़ा दिया सूली पर

0

यमन। आतंकी संगठन आईएसआईएस ने अगवा भारतीय पादरी टॉम उज्हुन्नैलील की हत्या कर दी है। फादर टॉम को यमन के एक ओल्ड एज होम से अगवा किया गया था। आईएस का दावा है कि गुड फ्राइडे के दिन फादर टॉम को सूली पर चढ़ा दिया गया। आतंकियों ने एक हफ्ते पहले चेतावनी भी दी थी कि वियना के फादर टॉम की हत्या कर दी जाएगी।

फादर टॉम

चार मार्च को आईएस से जुड़े इस्लामी आतंकियों ने यमन के ओल्ड एज होम (वृद्धाश्रम) पर हमला किया। इस हमले में 14 लोगों की मौत हुई थी, जबकि फादर टाॅम उज्हुन्नैलील का अपहरण कर लिया गया। हालांकि फादर की हत्या की सूचना को उनके गृहनगर बैंगलोर के चर्च ने झूठा करार दिया है। वहीं, टॉम आस्ट्रिया के जिस सेंट कैथड्रल चर्च में फादर के तौर पर पूजा करते थे, उसने फादर को सूली पर चढ़ाने की खबर को सच माना है।

सुषमा ने बताया था, लापता हैं फादर

अदन शहर में मदर टेरेसा मिशनरी ऑफ चैरिटी द्वारा संचालित वृद्धाश्रम पर हुए हमले के लिए यमन के अधिकारियों ने आईएस को जिम्मेदार ठहराया था। इस हमले में मारे गए 14 लोगों में 4 नन भी शामिल थीं। इसी के बाद से फादर टॉम उझुन्नैलील लापता थे। इस बारे में तब भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी ट्विटर पर जानकारी दी थी।

फादर को टॉर्चर किए जाने की खबर

अग्रेजी दैनिक ‘द इंडिपेंडेंट’ की खबर के मुताबिक, बीते रविवार को फ्रांसिसियन सिस्टर्स ऑफ सिएसैन ने फेसबुक पर जारी एक पोस्ट में दावा किया था कि फादर को टॉर्चर किया जा रहा है। यही नहीं, संगठन का कहना था कि गुड फ्राइडे के मौके पर आतंकी उन्हें सूली पर चढ़ा सकते हैं। फेसबुक पोस्ट में लिखा गया है, ‘यह हम सभी के लिए गंभीर रूप से प्रार्थना करने का समय है।

फादर टॉम के लिए दुआ

दूसरी ओर, बेंगलुरु के सेल्सियन सिस्टर्स ऑफ डॉन बॉस्को के एक सदस्य ने ‘इंटरनेशनल बिजनेस टाइम्स’ को बताया था कि उन्हें भारतीय पादरी के बारे में कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा, ‘फादर टॉम कहां हैं, इस बारे में हमें कोई जानकारी नहीं है। हम उनके लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

 

loading...
शेयर करें