साउथ अफ्रीकी स्टार ने अपनी करिश्माई बल्लेबाजी का खोला राज

केपटाउन।   फाफ डू प्लेसिस ने श्रीलंका के खिलाफ केपटाउन के न्यूलैंड्स क्रिकेट ग्राउंट पर खेले गए चौथे एकदिवसीय मैच में दक्षिण अफ्रीका की जीत में अहम भूमिका निभाई। मैच के बाद  डू प्लेसिस का कहना है कि टेस्ट टीम की कप्तानी के कारण वह एक बेहतर खिलाड़ी बन पाए हैं। दक्षिण अफ्रीका ने श्रीलंका को इस मैच में 40 रनों से मात दी। मैच में मेजबान टीम के लिए प्लेसिस ने 185 रनों की शानदार शतकीय पारी खेली।

 फाफ डू प्लेसिस

टेस्ट टीम की कप्तानी ने फाफ डू प्लेसिस को बनाया शानदार खिलाड़ी 

वेबसाइट ‘ईएसपीएनक्रिकइन्फो डॉट कॉम’ की रिपोर्ट के अनुसार, इस मैच में जीत के साथ दक्षिण अफ्रीका ने श्रीलंका के खिलाफ पांच एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला में 4-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली है। फाफ डू प्लेसिस द्वारा बनाया गया स्कोर दक्षिण अफ्रीका के लिए एकदिवसीय क्रिकेट प्रारूप के इतिहास में दूसरा सबसे बड़ा स्कोर है।

मैच के बाद प्लेसिस ने कहा कि एक कप्तान के तौर पर मैं बेहतर खिलाड़ी बन पाया हूं। यह वर्तमान में मेरी अच्छी फार्म का एक मुख्य कारण है।

प्लेसिस ने कहा, “कप्तान रहने पर मिलने वाला आत्मविश्वास और तेजी मददगार होती है। इससे आपका अपना प्रदर्शन बेहतर होता है। मैंने स्वयं के लिए एक अच्छा खिलाड़ी बनने की चुनौती तय की थी, अब यह चुनौती एक बेहतरीन खिलाड़ी बनने की है।”

दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी खिलाड़ी ने कहा कि उनके दिमाग में दोहरा शतक लगाने का कोई लक्ष्य नहीं था और न ही ऐसा कोई रिकॉर्ड बनाने की योजना थी।

प्लेसिस ने कहा, “मैं रिकॉर्ड के बारे में नहीं जानता। मैं बहुत खुश हूं कि मैं 185 रन बना पाया। रिकॉर्ड बनना एक अच्छी बात है, लेकिन मैंने एक सेकेंड के लिए भी इस बारे में या दोहरा शतक लगाने के बारे में नहीं सोचा था। मैं केवल अधिक से अधिक रन बनाने की कोशिश कर रहा था।”

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button