शादी न होने से परेशान युवती ने उठाया ये कदम

0

मिर्ज़ापुर। मिर्ज़ापुर के अदलहाट में बुधवार की रात ओझाई के चक्कर में चार साल की बच्ची की हत्या कर दी गई। सुबह बच्ची का शव मौर्या बस्ती के पास से मिला। उसके शारीर पर चार जगह पर लोहे की राड से गोदा गया है। जिससे पुलिस ने गांव की एक महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

आपको बता दें की  गांव के प्रदीप कुमार विश्वकर्मा की चार साल बेटी अनामिका बुधवार की शाम सात बजे से ही गायब थी। जब रात आठ बजे तक बच्ची घर नहीं ई तो घरवालें परेसान होकर बच्ची की खोजबीन शुरू हुई।

बच्ची का शव

बच्ची का शव सुबह मिलने से खलबली

गाँव में रहने वाला एक ब्यक्ति बताया की बच्ची को गांव की ही एक युवती के साथ देखा था। और युवती एक साल से अधविश्वास में ओझाओं का चक्कर में लगी थी। बच्ची को खोजते-खोजते हुए परिवार के सदस्य उसके घर गए तो उसने बताया कि बच्ची को हमने नहर के पास देखा था तो वह रो रही थी, रोता देख घर लाने की कोशिश किए पर नहीं आयी।

 

इसके बाद गांव के लोग बच्ची को खोजने के लिए नहर पर भी गये लेकिन उसका पता नहीं चला।तब घर के सदस्य ने देर रात पुलिस को बच्ची के गायब होने की सूचना दी। पुलिस ने भी खोजबीन की लेकिन कुछ पता नहीं चला।

सुबह जब सात बजे बच्ची का शव मिला तो पुरे गाँव में हलचल मच गई। पुलिस ने देखा कि बच्ची के गले, पीठ, बाएं कान व कमर में लोहे के राड से गोदा गया है। परिवार ओझाई के चक्कर में हत्या मान रही है। पुलिस ने युवती को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

बच्ची की हत्या में हिरासत में ली गई 23 वर्षीय युवती से जब पुचा गया तो उसने बताया की शादी नहीं होने से एक वर्ष से परेशान चल रही है। इसलिए वह अंधविश्वास के चक्कर में पड़ गई थी। यही कारण था कि ओझाओं का चक्कर काट रही थी। पुलिस को जब जानकारी मिली तो ओझा की भी तलाश कर रही है।

loading...
शेयर करें