Shocking: बेंगलुरु में है सुप्रीम कोर्ट और अमेरिका, चलता है डॉलर…

0

बेंगलुरु: भारत देश के बारे में कहा जाता है कि एक कोस पर बदले पानी चार कोस पर वाणी। कई हद तक यह सही भी है। यहां भिन्न-भिन्न तरह की परम्पराएं देशकर आश्चर्य भी होता है। आज हम आपको एक और ऐसी बात बताने जा रहे जिसे सुनकर आप अचंभित हो जायेंगे। दरअसल, हमारे देश में एक जगह ऐसी है जहां पर बच्चों के नाम सुनकर आप अपनी हँसी नहीं रोक सकते। हम बात कर रहे हैं बेंगलुरु के पास रहने वाले उन आदिवासी लोगों की जो अपने बच्चों के अजीबो-गरीब नाम रखते हैं।

बच्चों के नाम

बच्चों के नाम सुनकर हंसी रोक नहीं पायेंगे आप

हाक्कीपिक्की कहे जाने वाले ये आदिवासी लोग अपने बच्चों के नाम किसी भी देश, नेता या अभिनेता के नाम पर रखे जाए हैं। यहां के लोगों के नाम गूगल, शाहरुख खान, मैसूर, पाक, सुप्रीम कोर्ट, अमिताभ बच्चन, सोनिया गांधी, एक बटे दो, अमेरिका, कॉफी, कंपाउंड, एलिजाबेथ, बस, ब्रिटिश, डॉलर, मिलिट्री, ट्रेन, ग्लूकोज और अनिल कपूर भी हैं।

अब आप सोच रहे हो कि अगर अमिताभ बच्चन को बुलाया जाता होगा तो सुनने में आता होगा कि वह ब्रिटिश, मिलिट्री के साथ सुप्रीम कोर्ट से मिलने गया है। शाहरुख खान की मिलट्री से लड़ाई हो जाती है। सोनिया गांधी डॉलर के लिए अनिल कपूर से लड़ गई। है न हंसी ही खबर…

ये सभी नाम फिल्मों, जरुरत की चीजों और फेमस नेताओं से लिए गए हैं। बता दें कि कुछ लोगों के तो इसी नाम से वोटर आईकार्ड और आधार कार्ड तक बन गए हैं।

बच्चों के ऐसे नाम रखने का कारण है कि ये समुदाय वर्तमान समय की मशहूर चीजें या जो उन्हें पसंद आई देखने खाने में उसी के सम्मान में बच्चों का नाम रख देते हैं। ये लोग 14 अलग-अलग तरह की भाषा और बोलियों का इस्तेमाल करते हैं। यहां शादी के दौरान दूल्हे का परिवार दुल्हन के परिवार को दहेज देता है।

बताया जा रहा है कि हाक्कीपिक्की समुदाय राजपूत राजा महाराणा प्रताप के वंशज हैं। ये लोग जंगलों में रहते थे और पहले अपने बच्चों के नाम पेड़ों, नदियों और पहाड़ों के नाम पर रखा करते थे। इसलिए अब ये ऐसे अजब नाम रखने लगे हैं।

 

loading...
शेयर करें