बलात्कारियों के खिलाफ सरकार हुई सख्त, पॉक्सो एक्ट में बदलाव को कैबिनेट में मंजूरी

नई दिल्ली। बलात्कारियों के खिलाफ सरकार सख्त कदम उठाने की तैयारी कर रही है। इसके तहत अब 12 साल तक के मासूम बच्चों का रेप करने वालों को फांसी देने का कानून बनाने का प्रयास जारी है। शनिवार को कैबिनेट की बैठक में पॉक्सो एक्ट में बदलाव को मंजूरी दे दी गई है। जिसके बाद सरकार अब इस पर अध्यादेश लाने की तैयारी कर रही है।

वर्तमान कानून में दोषियों के लिए मौत की सजा का प्रावधान नहीं
बच्चों से रेप के मामले में फिलहाल जो कानून है उसमे दोषियों के लिए मौत की सजा का प्रावधान नहीं है। जिसे देखते हुए सरकार इसमे बदलाव करने जा रही है। जिसके तहत 12 साल तक की उम्र के बच्चों का रेप करने वालों को फांसी की सजा देने का कानून बनाया जाएगा।

इस एक्ट को पॉस्को एक्ट के नाम से जाना जाता है। POCSO का पूरा नाम है The Protection Of Children From Sexual Offences Act या प्रोटेक्शन आफ चिल्ड्रेन फ्राम सेक्सुअल अफेंसेस एक्ट। ये विशेष कानून सरकार ने साल 2012 में बनाया था। इस कानून के जरिए नाबालिग बच्चों के साथ होने वाले यौन अपराध और छेड़छाड़ के मामलों में कार्रवाई की जाती है।

यह अधिनियम पूरे भारत पर लागू होता है, पॉक्सो कनून के तहत सभी अपराधों की सुनवाई, एक विशेष न्यायालय द्वारा कैमरे के सामने बच्चे के माता पिता या जिन लोगों पर बच्चा भरोसा करता है, उनकी उपस्थिति में होती है।

Related Articles