पहले बच्ची के साथ किया रेप और फिर कर दी हत्या

0

इलाहाबाद। घर में बैठी आठवीं की बच्ची को गली में खींचकर ले गया और पहले बलात्कार किया फिर हत्या करके लाश फेंक दी। हत्या के बाद घरवालों को बेटी का मरा चेहरा भी देखने को नसीब नहीं हुआ। हत्या की खबर सुन पहुंची पुलिस ने सिर्फ काला दुपट्टा डालकर शव को अपने कब्जे में ले लिया। घरवाले बेटी का चेहरा दिखाने की गुहार लगाते रहे लेकिन पुलिस की जिद्द के आगे घरवालों की एक नहीं चली। दरिंदगी के बाद जिस गली में शव को फेंका गया था उधर कभी कोई आता जाता नहीं। गली के दोनो तरफ बने घरों के लोग उस गली में कूड़ा फेंकते हैं। कूड़ा फेंकने गई एक महिला ने शव को देखा और पुलिस को इसकी सूचना दी।

बलात्कार

बलात्कार से गुस्साई भीड़ आगजनी पर उतर आई 

शहर के अल्लापुर क्षेत्र की रहने वाली सुनीता (बदला नाम) बैरहना स्थित कॉलेज में कक्षा आठ की छात्रा थी। छात्रा का शव मिलते ही पूरे क्षेत्र में बवाल मच गया। पुलिस के पहुंचते ही लोग सडक़ों पर उतर आए। भीड़ ने पुलिस पर पथराव करने लगी। पथराव के बाद भीड़ आगजनी पर उतर आई। भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। शव मिलने के बाद घरवाले बेसुध हो गए लेकिन भीड़ में शामिल लोग कार्रवाई करने की मांग दोहराते रहे। भीड़ को शांत करने के लिए पुलिस को कार्रवाई का आश्वासन देना पड़ा। आश्वासन मिलने के बाद लोग शांत हुए।

शौच के लिए गई ,वापस नहीं आई

घरवालों का कहना है कि सुनीता शाम को घर से शौच के लिए काफी देर तक वापस नहीं आई। काफी देर तक खोजबीन करने के बाद घरवालों ने जार्जटाउन थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस भी खोजबीन में लगी रही। रविवार शाम पुलिस को सूचना मिली कि एक लडक़ी की लाश नया गांव की शमशेर गली में पड़ी है। रिपोर्ट के समय घरवालों की तरफ से दी गई फोटो से मिलान करते हुए पुलिस ने घरवालों को इसकी सूचना दी। मौके पर मौजूद लोगों का कहना था कि सुबह तक यहां शव नहीं था बारह बजे के बाद ही यहां शव फेंका गया है।

स्मैकी हो सकते हैं हत्यारे

सुनीता का सर ईट पत्थरों से कूच कर हत्या की गई है। पुलिस को आशंका है कि लड़की के साथ पहले रेप हु़आ और फिर सिर कूचकर हत्या की गई है। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। सुनीता की मां का कहना है कि मौके पर पुलिस ने उसे शव की पहचान करने के लिए बुलाया और उसका चेहरा भी नहीं दिखाया। सिर्फ काला दुपट्टा ही दिखाया।

लोगों का कहना है कि जहां लाश फेंकी गई थी उस गली के पास में एक मकान में कई किराएदार रहते है। मकान के कुछ कमरों पर स्मैकियों ने कब्जा कर रखा है। जिसकी वजह से पूरा मौहल्ला परेशान रहता है। वह कमरा गली से बिल्कुल सटा हुआ है। लोगों का कहना है कि छात्रा को दबोचकर उसी कमरे में ले जाया गया। दोपहर में सन्नाटा होने के बाद शव उसी गली में फेंक दिया गया।

loading...
शेयर करें