बस में गैंगरेप, अबोध बच्चे की हत्या

0

लखनऊ। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर सूबे में बस में गैंगरेप की घटना ने एक बार फिर दिल्ली की निर्भया कांड की याद ताजा कर दी है। प्राइवेट बस के कंडक्टर और ड्राइवर एक बार फिर हैवान बन गये और उन्होंने बस में चढ़ी महिला के अबोध बच्चे की हत्या कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म कर सड़क के किनारे कैनवस उढ़ाकर डाल दिया।

बस में गैंगरेप के दौरान बच्चे को छीनकर पटक दिया

बस में गैंगरेप

सोमवार की रात बस में गैगरेप की घटना उस समय हुई जब शीशगढ़ क्षेत्र में बस में यात्रा कर रही महिला को शिकार बनया गया। बस में गैंगरेप के आरोप में प्राइवेट बस कंडक्टर और ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है। महिला का कहना है कि आरोपितों ने उसके दुधमुहे बच्चे को उससे छीन कर बस के फर्श पर पटक कर मार डाला। हालांकि पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से पहले ही बच्चे की हत्या की बात से इनकार कर रही है। पुलिस के अनुसार बच्चे की मौत का कारण उसकी खराब हालत है। फिर भी मौत के कारणों की पुष्टि के लिए बच्चे का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

एसपी देहात यमुना प्रसाद का कहना है कि हमने अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है और महिला को मेडिकल जांच के लिए भेजा है। महिला रामपुर की निवासी है वह बरेली के शाही गांव में अपनी बहन से मिलने गयी थी। यहां उसे अपने 14 दिन के बीमार बच्चे को दिखाना था। बच्चे को डाक्टर को दिखाने के बाद महिला सोमवार की शाम रामपुर जाने के लिए बस में सवार हुई।

बस शीशगढ़ बस स्टाप पर रात 10 बजे के लगभग पहुंच गयी। महिला के अनुसार उस समय बस में बहुत कम यात्री थे। महिला के अनुसार बाद में जब सब उतर गये। बस कंडक्टर और ड्राइवर ने उसे रोक लिया और गैंगरेप किया। इस पाशविकता से वह बेहोश हो गयी तो आरोपितों ने महिला और उसके बच्चे को बस स्टाप से थोड़ी दूरी पर निर्जन स्थान पर डालकर उनके ऊपर कैनवस डाल दिया। और भाग गये।

एक स्थानीय व्यक्ति ने पुलिस को महिला के पड़े होने की जानकारी दी। तब मंगलवार सुबह पुलिस टीम महिला को लेकर थाने आयी। इसके बाद महिला के पति को बुलाया गया जिसने पुलिस में प्राथमिकी दर्ज करायी।

गौरतलब है कि दिल्‍ली में भी कुछ इसी तर्ज पर 16 दिसम्बर, 2012 को चलती बस में एक युवती के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया था। इस दौरान बस के ड्राइवर, कंडक्‍टर और उसके अन्य साथियों ने महिला का बर्बरतापूर्वक गैंगरेप किया और फिर उसे बुरी तरह पीटा था।

जब युवती ने इसका डटकर विरोध किया तो उसके यौनांग में व्हील जैक की रॉड घुसाकर उसके प्राइवेट पार्ट को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। वे सभी युवती को एक निर्जन स्थान पर बस से नीचे फेंककर भाग गए थे।  बाद में उस युवती की मौत हो गई।

loading...
शेयर करें