बांग्लादेश के आतंक रोधी दस्ते ने तीन और आतंकियों को कर दिया ढेर

0

ढाका| बांग्लादेश में आतंक-रोधी दस्ते ने शनिवार को तीन और आतंकवादियों को मार गिराया। देश के उत्तरपूर्वी क्षेत्र में शरण लिए नियो-जेएमबी सदस्यों पर पुलिस की यह दूसरी कार्रवाई है। नियो-जेएमबी, जमात-उल-मुजाहिदीन की एक प्रतिबंधित शाखा है, जिसे 1 जुलाई 2016 को ढाका के स्पेनिश कैफे पर आतंकी हमले के बाद प्रतिबंधित किया गया था। इस हमले में 22 लोगों की मौत हुई थी।

बांग्लादेश

बांग्लादेश में आतंक-रोधी दस्ते ने तीन आतंकियों को किया ढेर

बांग्लादेश के आतंक-रोधी पुलिस इकाई के प्रमुख मोनिरुल इस्लाम ने इसे ‘ऑपरेशन मैक्सिमस’ नाम दिया है, जिसका उद्देश्य देश के मौलवी बाजार जिले में शरण लिए आतंकवादियों को बाहर निकालना है। यह जिला राजधानी ढाका से 200 किलोमीटर उत्तरपूर्वी क्षेत्र में पड़ता है। पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, कानूनी दस्ते ने नियो-जेएमबी के इलाके में घुसकर तीन शव बरामद किए, जिसमें एक महिला का शव भी शामिल है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने एक पुलिस अधिकारी के हवाले से बताया कि इन आतंकवादियों ने ठीक उसी तरह आत्मघाती विस्फोट कर खुद को उड़ा लिया, जैसा सात अन्य आतंकवादियों ने इसी जिले में 30 मार्च को चलाए गए ‘ऑपरेशन हिट बैक’ के दौरान खुद को खत्म कर लिया था। सुरक्षा बलों ने बुधवार को मौलवी बाजार जिले की दो इमारतों को घेर लिया था।

पुलिस अधिकारी इस्लाम ने बताया कि पहले आतंक-रोधी ऑपरेशन के बाद सात शव अस्त-व्यस्त हालत में मौलवी बाजार के नासिर नगर में आतंकवादियों के गुप्त ठिकाने से मिले थे। इस्लाम ने कहा कि हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि ये मारे गए आतंकवादी नियो-जेएमबी के सदस्य हैं।

loading...
शेयर करें