बांदा : गैंगरेप पीड़िता चार महीने तक लगाती रही थाने के चक्कर, पुलिस ने नहीं दर्ज की FIR

0

बांदा| उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के जसपुरा थाने की पुलिस ने एक महिला के साथ हुए गैंगरेप की प्राथमिकी पुलिस अधीक्षक के हस्तक्षेप पर चार माह बाद गुरुवार को दर्ज कर ली है। कथित रूप से आरोपियों ने पीड़िता को उसके बीमार पति से मिलाने के बहाने उसका अपहरण कर लिया और वे उसके साथ एक माह तक दुष्कर्म करते रहे।

गैंगरेप

पुलिस अधीक्षक शालिनी ने शुक्रवार को बताया, “जसपुरा थाने के एक गांव की 26 साल की महिला उनसे गुरुवार को अपने पति के साथ मिलने आई और उसने गांव के ही दो सगे भाइयों और उनके बहनोई पर बीमार पति से मिलाने के बहाने अपहरण कर उसे फतेहपुर ले जाकर उसके साथ एक माह तक गैंगरेप करने का कथित आरोप लगाया।”

पुलिस अधीक्षक ने बताया, “महिला की शिकायत पर दो सगे भाइयों हंसराज व अमर सिंह के अलावा उनके बहनोई श्रीराम के खिलाफ आईपीसी की धारा-376डी एवं 344 के अंतर्गत मामला दर्ज कर विवेचना थानाध्यक्ष को सौंप दी गई है।”

पीड़िता ने अपनी शिकायत में पुलिस पर चार माह तक प्राथमिकी दर्ज न करने का भी आरोप लगया है, लेकिन एसपी ने प्राथमिकी न दर्ज करने के दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। एसपी ने कहा, “अभी मामले की जांच की जा रही है, और यदि पुलिसकर्मी दोषी पाए गए तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।”

थानाध्यक्ष रणंजय सिंह ने बताया, “एसपी के आदेश पर तीन आरोपियों के खिलाफ मुकदमा लिखा गया है। अभी आरोपी फरार हैं, उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।”

loading...
शेयर करें