बाबा भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती, प्रधानमंत्री नहीं रहे कार्यक्रम में मौजूद

0

बाबा भीमराव अंबेडकरनई दिल्ली। संविधान के रचयिता बाबा भीमराव अंबेडकर की आज 125वीं जयंती है। इस मौके पर संसद परिसर में उनको श्रद्धांजलि दी गई। लेकिन इस कार्यक्रम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गैर-मौजूदगी पर भी सवाल उठे।

बाबा भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती

आज सुबह संसद परिसर में हुए श्रद्धाजंलि समारोह में राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी के साथ कई केंद्रीय मंत्री भी मौजूद रहे लेकिन इस कार्यक्रम में देश के प्रधानमंत्री मौजूद नहीं थे। इसको लेकर विपक्ष ने प्रधानमंत्री मोदी की गैरमौजूदगी पर सवाल खड़े किए।

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया ने कहा है कि अब तक की परंपरा रही है कि इस कार्यक्रम में हर साल प्रधानमंत्री शामिल होते रहे हैं। इस बार इस परंपरा को तोड़ा गया है। पुनिया ने इसे प्रधानमंत्री द्वारा दलित समाज का अपमान बताया।

कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने संसद परिसर में पीएम मोदी की गैर मौजूदगी का सवाल उठाते हुए कहा कि ये जयंती इसलिए खास है क्योंकि 125वीं है। दुनिया के 180 से ज्यादा देशों में समारोह मनाए जा रहे हैं, यूएन भी उनकी जयंती मना रहा है। ये दलित समाज के लिए गर्व की बात है। परंपरा यही रही है कि संसद परिसर के कार्यक्रम में पीएम मौजूद रहते हैं और उन्हें मौजूद रहना चाहिए था।

पुनिया ने कहा कि पीएम की क्या व्यस्तता रही और क्या प्राथकमिकता है, लेकिन आज पीएम को संसद परिसर के कार्यक्रम में होना चाहिए। कांग्रेस नेता का कहना था कि केवल दिखावे में शामिल होने से काम नहीं चलेगा। बाबा साहेब का जो संघर्ष है वो ज्यादा अहम है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज मैरीटाइम इंडिया समिट के कार्यक्रम के लिए मुंबई में हैं, लेकिन दोपहर दो बजे मध्यप्रदेश में अंबेडकर की जन्मभूमि महू में जाकर श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे। पीएम महू में अंबेडकर जयंती के मौके पर ग्राम उदय से भारत उदय कार्यक्रम का भी उद्घाटन करेंगे।

कांग्रेस के दलित नेता के इस आरोप के बाद केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने पीएम की गैर मौजूदगी का बचाव किया है। गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार साल भर समारोह मनाने का एलान पहले ही कर चुकी है। आज पूरे देश में आयोजन हो रहा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी आज बाबा साहेब के जन्मस्थान महू में उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे और वहीं से ग्रामउदय से भारतउदय कार्यक्रम शुरुआत करेंगे।

loading...
शेयर करें